Advertisement

आजमगढ़ को उसकी सही पहचान ‘आर्यमगढ़’ भाजपा की सरकार ने दी- सीएम योगी

Share
Advertisement

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को आजमगढ़ में एक शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान सभी विपक्षी दलों को आड़े हाथों लिया।

Advertisement

योगी आदित्यनाथ ने कहा, “11वीं सदी में महाराज सुहेलदेव ने एक विदेशी आक्रांता सालार मसूद गाज़ी को नाकों चने चबाने के लिए मजबूर किया था। उसकी पूरी सेना को रौंदकर सनातन हिंदू धर्म की रक्षा करने का काम किया था।

और उस महान हिंदू सम्राट के नाम पर देश के यशस्वी गृह और सहकारिता मंत्री के करकमलों से आजमगढ़ में विश्व विद्यालय की स्थापना करके आतंक के कलंक से मुक्त करने और आजमगढ़ को उसकी सही पहचान आर्यमगढ़ देने का काम भी कर दिया है।”

सीएम योगी एक महीने पहले आजमगढ़ विश्वविद्यालय के शिलान्यास कार्यक्रम के मौके पर आजमगढ़ आए थे।

इसके साथ ही योगी आदित्यनाथ ने आजमगढ़ में अपराध को लेकर सपा सरकार को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, “समाजवादी पार्टी की सरकार के समय अराजकता ही उसका पर्याय हो गया था। देश के अंदर एक नारा चल रहा था कि जिस गाड़ी में सपा का झंडा, समझो होगा कोई जाना-पहचाना गुंडा।

सपा ने आजमगढ़ को अपराधियों का गढ़ बना दिया था। यहां के नौजवानों के सामने पहचान का संकट खड़ा हो गया था। पेशेवर अपराधी और माफियाओं का गढ़ बन गया था, जब ये गुंडे निकलते थे तो आम लोग डर जाते थे कि पता नहीं उनका प्रतिष्ठान और मकान कब्जा न हो जाए।

योगी ने राहुल गांधी से लेकर प्रियंका गांधी वाड्रा, सपा प्रमुख अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमों माया वती पर कोरोन काल में गायब होने के आरोप लगाए।

उन्होंने कहा, “कोरोना काल में मैं तीन बार आज़मगढ़ आया लेकिन आज़मगढ़ का सांसद आज़मगढ़ में नहीं दिखाई दिया। वो कोरोना से भयभीत हो गए थे और आइसोलेशन में थे। कोरोना का आतंक था, तब भाई-बहन गायब थे और बुआ-बबुआ भी गायब थे। तब केवल BJP काम कर रही थी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *