उत्तराखंड में BJP सरकार आते ही लागू होगा Uniform Civil Code, सभी धर्म के लिए बनेगा समान कानून: CM धामी

Uniform Civil Code

Uttrakhand: शनिवार को उत्तराखंड (Uttrakhand) के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि आगामी नई भाजपा सरकार (BJP Goverment) अपने शपथ ग्रहण के तुरंत बाद न्यायविदों, सेवानिवृत जनों, समाज के प्रबुद्धजनों और अन्य लोगों की एक कमेटी गठित करेगी जो उत्तराखंड राज्य के लिए यूनिफॉर्म सिविल कोड का ड्राफ्ट तैयार करेगी।

हिजाब पर छिड़ी जंग के बीच CM धामी का यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने का वादा

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बोले यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code) संविधान निर्माताओं के सपनों को पूरा करने की दिशा में भी एक प्रभावी कदम होगा… उत्तराखंड में जल्द से जल्द यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने से राज्य के सभी नागरिकों को समान अधिकारों को बल मिलेगा।

सीएम ने कहा उत्तराखंड की सांस्कृतिक-आध्यात्मिक विरासत की रक्षा के लिए भाजपा सरकार अपने शपथ ग्रहण के तुरंत बाद एक कमेटी गठित कर ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड’ का ड्राफ्ट तैयार करेगी। जिससे सभी नागरिकों के लिए समान कानून बनेगा, चाहे वे किसी भी धर्म में विश्वास रखते हों। इस यूनिफॉर्म सिविल कोड का दायरा विवाह, तलाक, ज़मीन जायदाद और उत्तराधिकार जैसे विषयों पर सभी नागरिकों के लिए समान कानून हो।

जानें यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code) का मतलब क्या है?

समान नागरिक सहिंता (Uniform Civil Code) का मतलब मुल्क के हर शहरी के लिए एक जैसा कानून होता है, भले ही वह शख्स किसी मज़हब या तबके का हो। लेकिन हिंदुस्तान में अभी तक ऐसा नहीं हो सका है। खासकर शादी, तलाक और जमीन-जायदाद के लिए मुल्क विभिन्न मजहबों के लिए अलग-अलग कानून हैं। इस अलग कानून को पर्सनल लॉ कहते हैं।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.

अन्य खबरें