पूरे असम से जल्द हटेगा ‘AFSPA’ , गृह मंत्री अमित शाह ने किया ऐलान

असम पुलिस (Assam Police) को राष्ट्रपति रंग भेंट करने के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने गुवाहाटी (Guwahati) में अपने संबोधन के दौरान कहा कि मैं पूरी असम (Assam) की जनता और असम पुलिस को बहुत बधाई देता हूं कि आज राष्ट्रपति का चिन्ह असम पुलिस को मिला है।

Share This News
Home Minister Amit Shah

असम पुलिस (Assam Police) को राष्ट्रपति रंग भेंट करने के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने गुवाहाटी (Guwahati) में अपने संबोधन के दौरान कहा कि मैं पूरी असम (Assam) की जनता और असम पुलिस को बहुत बधाई देता हूं कि आज राष्ट्रपति का चिन्ह असम पुलिस को मिला है। आज से देश की दसवीं पुलिस फोर्स असम पुलिस बनी है। आजादी के समय असम पुलिस बल की संख्या 8 हज़ार थी और आज असम पुलिस की संख्या 70 हज़ार से भी ऊपर उठी है और अनेक राष्ट्रीय एकता की महत्वपूर्ण लड़ाई अमस पुलिस ने बहुत अच्छे ढंग से लड़ी है।

आज से देश की दसवीं पुलिस फोर्स असम पुलिस बनी

अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने इस दौरान कहा कि असम में AFSPA के तहत आने वाले क्षेत्रों को कम कर दिया गया है। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि राज्य के सभी क्षेत्रों से AFSPA हटा दिया जाए। 2014 में असम में हमारे पास सिर्फ 5 सीटें थीं। 2016 में नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में हम चुनाव लड़ा। तब 30% सीटें जीतकर 60 सीटों के साथ हमने सरकार बनाई। 2021 में हमने पूर्ण बहुमत की भाजपा की सरकार बनाई, आज उस सरकार का 1 साल पूरा हो रहा है।

असम में AFSPA के तहत आने वाले क्षेत्रों को किया कम

आगे उन्होनें कहा भाजपा की सरकार बनने के पहले असम आतंकवाद, आंदोलन, बम धमाके, गोलीबारी से ग्रसित राज्य था। भाजपा सरकार के 6 वर्षों में असम में आतंकवाद, आंदोलन, हिंसा की जगह, शांति, विकास और बेहतर स्वास्थ्य और शिक्षा का रास्ता प्रशस्त हुआ है। हमने वादा किया था कि हम असम से घुसपैठ को रोकेंगे। बांग्लादेश की सीमा पर कल ही मैं दौरा करके आया हूं। सारे आंकड़े बताते हैं कि असम में घुसपैठ की घटनाओं पर बहुत ज्यादा कमी आई है। कुछ समय के बाद ये घुसपैठ पूरी तरह से बंद हो जाएगी।

कोविड के खिलाफ असम ने मजबूती से लड़ाई लड़ी

जनसंबोधन में आगे अमित शाह (Home Minister Amit Shah) बोले असम सरकार को मैं कोविड मैनेजमेंट की भी बधाई देता हूं। टीका आने से पहले ऑक्सीजन से लेकर सारी सुविधाओं की व्यवस्था करना और टीका आने के बाद जंगल हो या पहाड़ी क्षेत्र, गांव हो या शहर, टीकाकरण अभियान यहां सफल हुआ है। कोविड के खिलाफ असम ने मजबूती से लड़ाई लड़ी है। असम में हमने हिंसा, अलगावाद और उग्रवाद के खिलाफ जीरो टॉररेंस की नीति अपनाई है। युवाओं की आकांक्षाओं के अनुरूप विकास, प्रगति और शिक्षा के नए युग की शुरुआत की है। उग्रवादी संगठन के साथ गई समझौते हुए, 9,000 से ज्यादा उग्रवादी हथियार डालकर आज मुख्यधारा में शामिल हुए हैं।

Read Also:- क्रांति दिवस पर शहीदों को नमन करने आज मेरठ पहुंचेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.