भूपेंद्र पटेल होंगे गुजरात के नए मुख्यमंत्री, बीजेपी विधायक दल की बैठक में लिया गया फैसला

गुजरात। विजय रुपाणी के इस्तीफे के बाद गुजरात के नए मुख्यमंत्री के तौर पर भूपेंन्द्र पटेल के नाम पर सहमति बन गयी है। भूपेंन्द्र पटेल यूपी की गवर्नर और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल के करीबी माने जाते है। चर्चा थी कि केंन्द्रीय मंत्री मनसुख मांडविया को अगला सीएम बनाया जा सकता है।

वहीं, विधायक दल की बैठक में कार्यकारी मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और उप- मुख्यमंत्री नितिन पटेल पहुंचे थे। बैठक में केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया भी मौजूद थे। बीजेपी पर्यवेक्षक नरेंद्र सिंह तोमर और प्रह्लाद जोशी, प्रदेश बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव भी बैठक में मौजूद रहें।

बता दें कि मुख्यमंत्री बनने की रेस में मनसुख मंडाविया, नितिन पटेल, सीआर पाटिल, प्रफुल्ल पटेल, गोरधन झडफिया, आरसी फालदू का भी नाम था लेकिन विधायक दल की बैठक में भूपेंन्द्र पटेल को गुजरात के नए मुख्यमंत्री के रुप में चुना गया है

बता दें कि विजय रूपाणी ने शनिवार को मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था ।

भूपेंद्र पटेल का राजनीतिक सफर

बीजेपी के सीनियर लीडर हैं भूपेंद्र पटेल। घाटलोडिया सीट से विधायक हैं पटेल। गुजरात में सबसे ज्यादा वोटों से जीतने वाले विधायक हैं पटेल। उन्होंने 1 लाख 17 हजार वोटों से जीत हासिल की थी। नरेंद्र सिंह तोमर ने उनके नाम का ऐलान किया है। सूत्रों के मुताबिक कल नए मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह किया जाएगा। 

मुख्यमंत्री बदलने की वजह

बता दें कि विजय रुपाणी के इस्तीफे के पीछे की कई वजह रही है और इसी वजह से उन्हें गुजरात की सत्ता से हाथ धोना पड़ा है।

राजनीतिक पंडितों की अगर मानें तो विजय रुपाणी ने जिस तरह से कोरोना के दौरान गुजरात में मामले को संभाला, उससे बीजेपी शीर्ष नेतृत्व खुश नहीं दिख रही थी और RSS फैक्टर पर भी रुपाणी फिट नही बैठ रहे थे। एक मत ये भी है कि बीजेपी को गुजरात में ऐसी सरकार चाहिए थी जिसका मुख्यमंत्री अपने किए गये कामों का प्रचार जनता तक कर सके, लेकिन यहां भी विजय रुपाणी फेल होते नजर आए। इसके साथ रुपाणी गुजरात के जातीय समीकरण को भी साध पाने में नाकाम रहे।

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *