Advertisement

Nag Panchami 2022:  नाग पंचमी के दिन जानें पूजा करने का शुभ मुहूर्त, भूलकर भी न करें ये काम

Share
Advertisement

सावन महीने में आने वाले सभी महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक नागपंचमी का त्योहार भी होता है। हालांकि इस बार नाग पंचमी का त्योहार कल यानी 2 अगस्त मंगलवार के दिन मनाया जाने वाला है। इसी के साथ लोगों ने इसको लेकर काफी तैयारी भी कर लिया है। बता दें नाग पंचमी के त्योहार को लेकर सभी शिवालयों में तैयारियां पूरी हो चुकी है। इसी के साथ नाग पंचमी के दिन महादेव के साथ-साथ वासुकी नाग की पूजा भी की जाती है। इस दिन नाग देवता को दूध और धान का लावा अर्पित किया जाता है। नाग पंचमी पर्व के दिन कालसर्प दोष दूर करने के लिए लोग नाग देवता की पूजा करते हैं।

Advertisement

यह भी पढ़ें: ऑफिस में कंफर्टेबल के साथ दिखें स्टाइलिश, पहनावे में इन बातों का रखें ध्यान

पूजा करने का शुभ मुहूर्त

पूरे देश में हिंदू पंचांग के अनुसार सावन मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। इसी के साथ इस वर्ष नाग पंचमी तिथि 2 अगस्त को सुबह 05:14 से शुरू होगा। वहीं अगले दिन शुभ मुहूर्त 3 अगस्त को सुबह 06:05 से लेकर 08:41 तक रहेगा। बता दें कि वासुकी नाग महादेव के गले की शोभा बढ़ाते हैं। इस कारण से महादेव के साथ-साथ नाग देवता की भी पूजा की जाती है। वहीं नाग पंचमी को लेकर कई पौराणिक कथाएं भी प्रचलित है।

बता दें नागपंचमी के दिन स्नान आदि से निवृत होकर पूजा स्थल को गंगाजल से शुद्ध कर लें। गंगाजल उपलब्ध न हो तो स्वच्छ जल से भी साफ किया जा सकता है। इसके बाद लकड़ी की चौकी पर साफ वस्त्र बिछाकर नाग देवता की प्रतिमा स्थापित करें।

नाग पंचमी के दिन इन बातों का रखें खास ख्याल

नागपंचमी के दिन कई बातों का हमें विशेष ध्यान रखने की जरुरत है। बता दें माना जाता है कि नाग पचंमी के दिन व्रत रखना अच्छा माना जाता है। नाग पंचमी के दिन सुई धागे का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए और ना ही इस दिन लोहे के बर्तन में खाना बनाना चाहिए। नाग पंचमी के दिन उस जमीन को बिल्कुल भी नहीं खोदना चाहिए जहां सांपों का बिल हो। विशेषकर ना ही इस दिन सांप को मारना चाहिए। अगर आपको कहीं सांप दिख जाता है तो उसे जाने दें।

यह भी पढ़ें: हिमाचल के ऊना में बड़ा हादसा, गोविंद सागर में डूबे मोहाली से घूमने आए 7 युवक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें