चीन को खुश करने के लिए विश्व बैंक की ‘डूइंग बिज़नेस रिपोर्ट’ में हेरफेर, कैपिटल के लिए वर्ल्ड बैंक ने ड्रैगन से मांगी थी मदद

नई दिल्ली। विश्व बैंक की डूइंग बिजनेस रिपोर्ट की विश्वसनीयता पर सवालिया निशान लगाए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि विश्व बैंक ने चीन के दबाव में आकर 2018 की ‘कारोबारी सुगमता रिपोर्ट’ (Ease Of Doing Business) में हेरफेर की थी।

IMF की प्रबंध-निदेशक का नाम आया सामने

इस मामले में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की प्रबंध-निदेशक (Managing director) क्रिस्टलीना जॉर्जीवा का नाम भी सामने आ रहा है। ख़बर है कि चीन की नाराज़गी से बचने के लिए जॉर्जीवा ने अपने कर्मचारियों को एक रिपोर्ट में कुछ बदलाव करने का आदेश दिया था। हालांकि जॉर्जीवा ने इस आरोप को बेबुनियाद और झूठा बताया है।

IMF के तत्कालीन अध्यक्ष पर चीन की रैंकिंग अच्छी करने का था दबाव

बैंक की एथिक्स कमिटी के कहने पर लॉ फर्म विल्मरहेल ने एक रिपोर्ट तैयार की थी। जिसमें वर्ल्ड बैंक पर चीन के दबाव को लेकर चिंता ज़ाहिर की गई है। रिपोर्ट में लिखा है कि क्रिस्टलीना ने चीन की रैंकिंग बेहतर करने को लेकर कर्मचारियों पर दबाव बनाया था। इसके अलावा ये भी कहा जा रहा है कि उस दौरान ईएमएफ के अध्यक्ष रहे, जिम योंग किम पर भी चीन की रैंकिंग को अच्छा करने का प्रेशर बनाया गया था। 

रद्द की गई डूइंग बिजनेस की रिपोर्ट

इस मामले में जॉर्जिया ने IMF के कार्यकारी बोर्ड के सामने अपना पक्ष रखा है। रिपोर्ट में डाटा से छेड़छाड़ की बात सामने आने के बाद विश्व बैंक ने गुरुवार को डूइंग बिजनेस की रिपोर्ट को स्थगित करने का ऐलान कर दिया है।

यूएसए का ट्रेजरी डिपार्टमेंट करेगा इस मामले का अध्ययन 

अमेरिका के ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने इस मामले का अध्ययन करने की मंशा जताई है। ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने कहा, ‘अगर यह रिपोर्ट सही है, तो यह एक गंभीर मसला है।‘

‘डूइंग बिजनेस 2018’ की रिपोर्ट में चीन ने 7वें से 78वें स्थान पर लगाई थी छलांग

गौरतलब है कि विश्व बैंक ने कैपिटल के लिए चीन से मदद मांगी थी, जिससे इस बात का अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि उसके बदले में ही रिपोर्ट में चीन की रैंकिंग को अच्छी कर उसे खुश करने का प्रयास किया गया था। ‘डूइंग बिजनेस 2018’ की रिपोर्ट में चीन सातवें पायदान से उछलकर 78वें स्थान पायदान पर आ गया था।

क्या है डूइंग बिजनेस रिपोर्ट ?

अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर विश्‍व बैंक द्वारा जारी यह इंडेक्‍स एक तरह का सकल आंकड़ा है, जो बताता है कि किसी देश में कारोबार सुगमता (Ease Of Doing Business) कैसी है?

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *