समीर वानखेड़े के खिलाफ विजिलेंस जांच शुरू, वानखेड़े ने कहा- व्यक्तिगत, मानहानिकारक और निंदनीय हमलों से हूं आहत

मुंबई: क्रूज ड्रग्स केस में समीर वानखेड़े के खिलाफ इंटरनल विजिलेंस जांच शुरू हो चुकी है, इसकी जानकारी एनसीबी के डीडीजी ज्ञानेश्वर सिंह ने दी है। डीडीजी ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा कि सोशल मीडिया पर एक गवाह ने आरोप लगाए जिसके बाद जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के खिलाफ इंक्वायरी मार्क की गई है।

वानखेड़े का जवाब

एनसीबी नेता नवाब मलिक के आरोप को और ट्वीट का जवाब देते हुए वानखेड़े एक प्रेस नोट में कहा, ‘ महाराष्ट्र सरकार के अल्पसंख्यक विकास मंत्री नवाब मलिक ने अपने ट्विटर हैंडल पर “समीर दाऊद वानखेड़े” का आरोप लगाते हुए मुझसे संबंधित कुछ दस्तावेज प्रकाशित किए हैं।

इस सन्दर्भ में मैं यह व्यक्त करना चाहता हूँ कि मेरे पिता स्व. ज्ञानदेव काचरूजी वानखेड़े साल 2007 में  राज्य आबकारी विभाग, पुणे के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक के पद से सेवानिवृत्त हुए। मेरे पिता एक हिंदू हैं और मेरी मां स्वर्गीय श्रीमती जाहिदा एक मुस्लिम थीं। मैं सच्ची भारतीय परंपरा में एक समग्र, बहुधार्मिक और धर्मनिरपेक्ष परिवार से ताल्लुक रखता हूं और मैं हूं। मेरी विरासत पर गर्व है’।

पारिवारिक गोपनीयता पर अनावश्यक आक्रमण: समीर वानखेड़े

समीर वानखेड़े ने आगे कहा, मैंने डॉ. शबाना कुरैशी से 2006  में  विशेष विवाह अधिनियम, 1954 के तहत एक नागरिक विवाह समारोह में शादी की। हम दोनों ने वर्ष 2016 में विशेष विवाह अधिनियम के तहत सिविल कोर्ट के माध्यम से पारस्परिक रूप से तलाक ले लिया। इसके बाद वर्ष मैंने 2017 क्रांति दीनानाथ रेडकर से शादी की। ट्विटर पर मेरे निजी दस्तावेज़ों का प्रकाशन मानहानिकारक प्रकृति का है और मेरी पारिवारिक गोपनीयता पर अनावश्यक आक्रमण है। इसका मकसद मुझे, मेरे परिवार, मेरे पिता और मेरी दिवंगत मां को बदनाम करना है। पिछले कुछ दिनों में माननीय मंत्री जी के कृत्यों की श्रृंखला ने मुझे और मेरे परिवार को अत्यधिक मानसिक और भावनात्मक दबाव में डाल दिया है। मैं माननीय मंत्री द्वारा बिना किसी औचित्य के व्यक्तिगत, मानहानिकारक और निंदनीय हमलों की प्रकृति से आहत हूं। ट्विटर पर मेरे व्यक्तिगत दस्तावेजों का प्रकाशन मेरी पारिवारिक गोपनीयता का हनन है।

वानखेड़े द्वारा जारी प्रेस नोट

क्रांति दीनानाथ रेडकर का ट्वीट

वानखेड़े के बचाव में उनकी पत्नी क्रांति दीनानाथ रेडकर ने ट्वीटर पर लिखा, जब आप ज्वार के खिलाफ तैरते हैं, तो यह आपको डूबा सकता है, लेकिन अगर परमात्मा आपके साथ है, तो कोई ज्वार आपको नही डुबो सकती है। क्योंकि ,सच वही जानता है। सत्यमेव जयते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *