Advertisement

बिहारः रेल ट्रैक पर प्रदर्शन के दौरान आई नींद, ऊपर से गुजरी ट्रेन और फिर…

Protest on Railway track

Protest on Railway track

Share
Advertisement

Protest on Railway track: बिहटा-औरंगाबाद संघर्ष समिति के प्रदर्शन के दौरान एक ऐसी घटना घटी कि जिसे देख वहां मौजूद हर कोई सन्न रह गया। गनीमत रही कि इस दौरान किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई। ट्रेन ड्राइवर की सूझबूझ से हादसा बच गया।

Advertisement

Protest on Railway track: रेल लाइन उपेक्षा का आरोप

दरअसल संघर्ष समिति का आरोप था कि बिहटा- औरंगाबाद रेल लाइन की उपेक्षा की जा रही है। इसी से नाराज संघर्ष समिति ने रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन शुरू कर दिया। प्रदर्शन की वजह से ट्रैक पर चार घंटे तक रेल का आवागमन ठप रहा। इससे यहां से गुजरने वालीं 14 ट्रेनें प्रभावित हुई। दोपहर 12 बजे शुरू हुआ प्रदर्शन शाम तकरीबन 4:42 तक चला।

ट्रैक पर सोते रह गए नेतृत्वकर्ता

इस दौरान न जाने कैसे प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे चंदन कुमार वर्मा ट्रैक पर सोते रह गए। इस बीच अचानक पटना सुविधा एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखा दी गई। इससे ट्रेन की आठ बोगियां चंदन के ऊपर से गुजर गईं। घटना को देख पुलिस और लोगों ने शोर मचा दिया। हर कोई इस घटना से स्तब्ध था। तभी ट्रेन के लोको पायलट ने सूझबूझ दिखाते हुए इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोक दिया।

गुस्साए लोगों ने की पत्थरबाजी

इसके बाद चंदन की जान बच पाई। प्रदर्शनकारी घटना देख उग्र हो गए। मौके पर भगदड़ मच गई। प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन के इंजन पर पत्थरबाजी कर दी। ट्रेन ड्राइवर ने गेट बंद कर जैसे-तैसे खुद को बचाया। प्रदर्शनकारी ड्राइवर को पकड़ने के लिए दौड़ पड़े।

डीआरएम के समझाने पर मामला हुआ शांत

प्रदर्शनकारी डीआरएम को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ गए। स्थानीय प्रशासन ने उन्हें बहुत समझाया लेकिन वो नहीं माने। इसके बाद दानापुर रेल मंडल के डीआरएम आधार राज और अन्य वरीय पदाधिकारी मौके पर पहुंचे। प्रदर्शनकारियों को बताया कि परियोजना से जुड़े फाइनल लोकेशन सर्वे का काम चल रहा है। जनवरी में काम पूरा होगा। इसके बाद डीपीआर बनाकर रेलवे को भेजा जाएगा। तब जाकर मामला शांत हुआ।

ये भी पढ़ें: चुनावों में हार के बाद बंटवारे की राजनीति पर उतर आई कांग्रेस – नित्यानंद राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *