Advertisement

ममता बनर्जी का पीएम मोदी पर तंज… ‘क्या मेरे हाथ का बना खाना खाएंगे’

Mamata to Pm Modi

Mamata to Pm Modi

Share
Advertisement

Mamata to Pm Modi: पश्चिम बंगाल में खाने पर राजनीति गरमा गई है. दरअसल यहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बयान के बाद खाने पर राजनीति ने एक बार फिर तूल पकड़ लिया है. सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि में बचपन से ही अच्छा खाना बनाती हूं. क्या पीएम मोदी मेरे हाथ का बना खाना खाएंगे. वो कहें तो मैं उनके लिए खाना बना सकती हूं. इस बयान पर अब कई राजनीतिक पार्टियों के रिएक्शन आना शुरू हो गए हैं.

Advertisement

दरअसल लोकसभा चुनावों के दौरान पहली बार खाने पर राजनीति ने तब तूल पकड़ा था जब आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, वीआईपी प्रमुख सहनी के साथ हेलीकॉप्टर में मछली खा रहे थे. इसका एक वीडियो भी सामने आया था.

इस मामले में विपक्षी पार्टी ने उन्हें घेरते हुए कहा था कि वो नवरात्र में मछली खा रहे हैं. वहीं आरोप लगाए थे कि लालू जी सावन में मटन खाते हैं. अब ममता बनर्जी के बयान के बाद यह राजनीति फिर से गरमा गई है.

ममता बनर्जी ने यह भी कहा कि मुझे नहीं पता कि वो मेरे हाथ का बना खाना खाएंगे कि नहीं. उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए यह बात कही थी. उन्होंने कहा था कि हर कोई मेरी पाक कला की सराहना करता है. उन्हें(पीएम मोदी) जो पसंद आएगा मैं वही बनाऊंगी.

इस मामले में टीएमसी सांसद डोला सेन ने कहा कि जैसे मोदीजी को अपनी पसंद का कुछ भी खाने का अधिकार है, वैसे ही हर भारतीय को अधिकार है. वहीं इस मामले में बीजेपी नेताओं का कहना है कि ममता बनर्जी जानबूझकर पीएम का अपमान कर रही हैं.

 त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल तथागत रॉय ने ट्वीट किया ‘ममता बनर्जी प्रधानमंत्री मोदी को मछली-चावल खिलाना चाहती हैं.’ बीजेपी नेता शंकुदेव पांडा ने कहा कि वो (ममता बनर्जी) अच्छी तरह जानती हैं कि पीएम मोदी शाकाहारी हैं. वो मांसाहार नहीं करते. वह मानती हैं कि हर किसी को अपनी पसंद का भोजन करने का अधिकार है तो पीएम मोदी के बयान को तोड़मरोड़ कर क्यों पेश कर रही हैं.

वहीं ममता बनर्जी ने कहा कि मुझे ढोकला पसंद है तो वहीं मछली का शोरबा भी. कौन क्या खाएगा यह भाजपा कैसे तय कर सकती है. इससे पता लगता है कि भाजपा को भारत की विविधता और एकता के बारे में समझ कम है.

 इस मामले में सीपीएम नेता विकास भट्टाचार्य ने कहा कि ममता अगर मोदी जी के लिए खाना बना सकती हैं तो यह अपमानजनक क्यों हो गया. देश को इस स्थिति में पहुंचाने के लिए ममता बनर्जी और पीएम मोदी दोनों जिम्मेदार हैं. वो राजनीति में धर्म मिला रहे हैं.

यह भी पढ़ें: जनसभा में बोले CM हिमंत…’300 सीटों में बना राम मंदिर, 400 सीटों में कृष्णजन्मभूमि नहीं बनेगा क्या’

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरों को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *