Advertisement

PM Modi ने शुरू की दुनिया की सबसे बड़ी अन्न भंडारण योजना, जानें खास बातें

pm modi launched World's largest storage scheme in India
Share
Advertisement

PM Modi: प्रधानमंत्री मोदी ने राजधानी के शनिवार (24 फरवरी) को प्रगति मैदान स्थित भारत मंडपम में आयोजित एक कार्यक्रम में दुनिया की सबसे बड़ी अन्न भंडारण योजना उद्घाटन किया है। पीएम ने खाद्यान्न वितरण के लिए 11 राज्यों में 11 पैक्स गोदामों का शुभारंभ किया और 500 पैक्स में गोदामों के निर्माण की आधारशिला रखी। इस कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री अमित शाह भी साथ में मौजूद रहे। उद्घाटन के बाद पीएम मोदी ने जनता को संबोधित भी किया।

Advertisement

PM Modi:  किसानों के लिए दुनिया की सबसे बड़ी भंडारण योजना शुरू की

पीएम मोदी ने संबोधन के दौरान कहा कि ‘आज भारत मंडपम ‘विकसित भारत’ की अमृत यात्रा में एक और बड़ी उपलब्धि का साक्षी बन रहा है। सहकार से समृद्धि का जो संकल्प देश ने लिया है, उसे साकार करने की दिशा में आज हम और आगे बढ़ रहे हैं। खेती और किसानी की नींव को मजबूत करने में सहकारिता की शक्ति की बहुत बड़ी भूमिका है, इस सोच के साथ हमने अलग सह​कारिता मंत्रालय का गठन किया है।’

पीएम ने आगे कहा कि ‘आज हमने अपने किसानों के लिए दुनिया की सबसे बड़ी भंडारण योजना शुरू की है। इसके तहत देश के कोने-कोने में हजारों वेयर हाउसेस बनाए जाएंगे, हजारों गोदाम बनाए जाएंगे। आज 18 हजार PACS के कम्प्यूटरीकरण का बड़ा काम भी पूरा हुआ है।’

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Election: आप-कांग्रेस के बीच 4 राज्यों में गठबंधन, जानें कितनी सीटों पर कौन लड़ेगा चुनाव ?

PM Modi: ‘सहकारिता एक मनोभावना’

PM ने सहकारिता को भावना और मनोभाव बताया है। पीएम ने कहा कि ‘सहकारिता का ये मनोभाव कई बार व्यवसायों और संसाधानों की सीमाओं से परे आश्चर्यजनक परिणाम देती हैं। सहकार, जीवनयापन से जुड़ी एक सामान्य व्यवस्था को बड़ी औद्योगिक क्षमता में बदल सकता है। ये देश की अर्थव्यवस्था, खासकर ग्रामीण और कृषि से जुड़ी अर्थव्यवस्था के कायाकल्प का एक प्रमाणिक तरीका है।’

‘सहकार से जुड़ी नीतियों में महिलाओं को प्राथमिकता’

पीएम ने महिलाओं के सशक्तिकरण की भी बात की। उन्होंने कहा कि आज देश में डेयरी और कृषि में सहकार से किसान जुड़े हैं, उनमें करोड़ों की संख्या में महिलाएं ही हैं। महिलाओं के इसी सामर्थ्य को देखते हुए सरकार ने भी सहकार से जुड़ी नीतियों में उन्हें प्राथमिकता दी है। हाल ही में बहु राज्य सहकारी समिति अधिनियम में सुधार लाया गया है। इसके तहत बहु राज्य सहकारी समिति के वार्ड में महिला डायरेक्टर होना अनिवार्य कर दिया गया है।

‘FPO की सफलता की दूर दूर तक चर्चा’

पीएम मोदी ने कहा कि ‘हमारे देश में 10,000 किसान उत्पादक संगठन (FPO) स्थापित करने का लक्ष्य था। मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि आज 8,000 FPO पहले ही स्थापित हो चुके हैं। आज हमारे FPO की सफलता की कहानियों की चर्चा देश की सीमाओं से परे भी हो रही है।‘

Hindi Khabar App: देश, राजनीति, टेक, बॉलीवुड, राष्ट्र,  बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल, ऑटो से जुड़ी ख़बरो को मोबाइल पर पढ़ने के लिए हमारे ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड कीजिए. हिन्दी ख़बर ऐप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *