Advertisement

Bikanervala: नहीं रहे बीकानेरवाला के संस्थापक लाला केदारनाथ अग्रवाल, 1950 में आए थे दिल्ली

Share
Advertisement

Bikanervala: मिठाई और स्नैक्स ब्रांड बिकानेरवाला (Bikanervala) के संस्थापक लाला केदारनाथ अग्रवाल (Lala Kedarnath Agarwal) का सोमवार को दिल्ली में निधन हो गया। बिकानेरवाला ने एक बयान जारी कर कहा कि काकाजी के नाम से मशहूर केदारनाथ अग्रवाल का निधन एक युग का अंत है। इसने स्वाद को समृद्ध किया है और अनगिनत जिंदगियों को प्रभावित किया है।” भारत में बीकानेरवाला की 60 से अधिक दुकानें हैं और यह अमेरिका, न्यूजीलैंड, सिंगापुर, नेपाल और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) जैसे देशों में भी मौजूद है। 

Advertisement

समूह के प्रबंध निदेशक श्याम सुंदर अग्रवाल ने कहा, “काकाजी का निधन सिर्फ बीकानेरवाला के लिए क्षति नहीं है। यह पाककला परिदृश्य में एक शून्य है। उनका दृष्टिकोण और नेतृत्व हमेशा हमारी पाक यात्रा को आकार देगा।” केदारनाथ अग्रवाल ने अपनी व्यापारिक यात्रा दिल्ली से शुरू की। उनका परिवार, मूल रूप से बीकानेर का रहने वाला था और 1905 से शहर की सड़कों पर मिठाई की दुकान चला रहा था। इस दुकान को बीकानेर नमकीन भंडार कहा जाता था और वे कुछ प्रकार की मिठाइयां और नमकीन बेचते थे।

अग्रवाल बड़ी महत्वाकांक्षाओं के साथ 1950 के दशक की शुरुआत में अपने छोटे भाई सतीनारायण अग्रवाल के साथ दिल्ली चले गए। शुरुआत में दोनों भाई भुजिया और रसगुल्ले की बाल्टी लेकर पुरानी दिल्ली की सड़कों पर बेचते थे। हालाँकि, अग्रवाल बंधुओं की कड़ी मेहनत और बीकानेर के अनोखे स्वाद को जल्द ही दिल्ली के लोगों ने पहचान लिया और स्वीकार कर लिया। बाद में अग्रवाल बंधुओं ने दिल्ली के चांदनी चौक में एक दुकान खोली, जहां उन्होंने पारिवारिक नुस्खा अपनाया, जो आज भी पीढ़ी-दर-पीढ़ी चला आ रहा है।

ये भी पढ़ें: PM Modi Road Show Indore: इंदौर में आज रोड शो करेंगे PM मोदी, देवदर्शन कर करेंगे शुरुआत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *