सोनीपत में स्कूल की छत गिरी, बच्चों समेत 35 लोग घायल, एग्जाम देने के बाद अंदर बैग लेने गए थे छात्र

सोनीपत: सोनीपत के गन्नौर जिले के बाय गांव से दिल-दहला देने वाली घटना सामने आई है। गांव के जीवानंद मॉडल पब्लिक स्कूल की छत गिरने से बच्चों समेत 35 लोग घायल हो गए हैं। हादसे में तीसरी, चौथी कक्षा के बच्चें, अध्यापक और छत पर मिट्टी डाल रहे मजदूर दब गए हैं। चीख पुकार सुनकर गांव वालों ने मौके पर पहुंचकर दबे हुए लोगों को निकालने की कोशिश की।

इसी दौरान पुलिस को भी सूचित किया गया।

बाद में स्कूल प्रबंधन और अधिकारियों को सूचित किया गया। आनन-फानन में मलबे में दबे लोगों को गांव वालों की मदद से पुलिस की रेस्क्यू टीम ने बाहर निकाला। कम से कम 28 घायलों को नजदीक के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। गंभीर रूप से घायल 7 लोगों को प्राइवेट अस्पताल भेजा गया है।

छत पर मिट्टी डालने का काम कर रहे थे मजदूर

प्राप्त जानकारी के अनुसार, छत पर मिट्टी डालने का काम चल रहा था। लगातार हो रही तेज़ बारिश से छत की हालत जर्जर हो गई थी। जिसके बाद पुलिस प्रशासन ने छत पर मिट्टी डलवाने का काम शुरू करवाया था। लेकिन जैसे ही मजदूरों ने छत पर मिट्टी डालना शुरू किया, वैसे ही छत नीचे गिर गई।

अचानक गिरी छत, हुआ जोरदार धमाका

सुबह करीब 11 बजे स्कूल के हॉल में मजदूर मिट्टी डालने का काम कर रहे थे। इस हॉल के नीचे तीसरी और चौथी कक्षा की क्लास थी। स्कूल में बच्चों के एग्जाम चल रहे हैं। परीक्षा खत्म होने के बाद बच्चें अपना बैग उठाने आए थे। कक्षा में अध्यापक भी मौजूद थे। लेकिन तभी छत गिर गई, बच्चें, अध्यापक और मजदूर समेत सभी लोग मलबें में दब गए। छत गिरने के कारण तेज धमाका हुआ।

सिर पर आई हैं गंभीर चोटें

बताया जा रहा है हादसे में करीब 25 बच्चों को गंभीर रूप से चोटें आई हैं। सभी बच्चों को ज्यादातर सिर पर चोटें आई हैं, और टांके लगे हैं। बच्चों को पहले स्कूल बस से अस्पताल पहुंचाया गया। जल्द ही सभी घायलों के परिजनों को भी सूचित किया गया। सूचना मिलने के बाद परिवार वाले पहले स्कूल पहुंचे और फिर अस्पताल।

सूचना की ख़बर मिलते ही CMO भी तुरन्त हरकत में आया और अस्पताल को अच्छा इलाज करने के निर्देश दिए।

हादसे के बाद स्कूल की छुट्टी कर दी गई है और बाकी बच्चों को स्कूल बस से ही घर छुड़वाया गया।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *