राजस्थान के बाद हिमाचल में भी लंपी का कहर, अब तक 4,567 पशुओं की मौत

राजस्थान के बाद अब हिमाचल प्रदेश में भी लंपी वायरस का कहर देखने को मिल रहा है। बता दें लंपी वायरस अब तेजी से फैल रहा है जिसके कारण कई पशुओं की मौत हो रही है। वहीं हिमाचल के पशुपालन मंत्री ने प्रदेश में बढ़ते वायरस के खतरें को देखते हुए इस बिमारी की रोकथाम और पशुधन बचाने के लिए सरकार ने टास्क फोर्स का गठन किया है। इस लंपी नामक बिमारी को रोकने के लिए सरकार ने पहले दिन से ही कठोर कदम उठाए गए है। बता दें साथ ही इस बिमारी को महामारी घोषित करने के लिए गृह मंत्रालय को भी प्रस्ताव भेजा गया है।

शिमला में भी लंपी का कहर

शिमला के हिमाचल प्रदेश में लंपी वायरस का बहुत बुरा कहर देखने को मिल रहा है। इस वायरस की वजह से लगातार पशुओं की मौत हो रही है और यह आंकड़ा दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। हिमाचल में इस बिमारी से अब तक 4567 पशुओं की मौत हो चुकी है और 83,790 पशु इससे संक्रमित है यह जानकारी हिमाचल के पशुपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने दी है। हिमाचल के पशुपालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने बताया कि अब तक 2 लाख 26 हजार 251 पशुओं को लंपी वायरस के टिकें लग चुके है उन्होनें यह भी बताया है कि सूबे में 83790 पशु इस बिमारी से ग्रसित हिए है साथ ही 4567 पशुओं की मौत हो चुकी है।

हिमाचल में पशुपालन मंत्री ने इस बिमारी की रोकथाम और पशुधन को बचाने के लिए एक स्पेशल टास्क फोर्स बनाई गई है। मंत्री वीरेंद्र कंवर ने यह भी बताया कि करोना काल में इंसानों की मौत के बाद अब कांग्रस नेता मुकेश अग्निहोत्री पशुओं की मौत पर भी राजनीति कर रहे है। बता दें कि हिमाचल के मंत्री ने बताया था कि पशुओं के मालिकों को मुआवजा मिलेगा लेकिन अभी तक हिमाचल में किसी भी मालिक को कोई मुआवजा नहीं मिला है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.