Delhi Murder Case: दिल्ली के प्रशांत विहार में तैनात सिपाही के कार में मिला शव, जानिए क्या है मामला

Crime News

नई दिल्ली। दिल्ली के प्रशांत विहार थाने में तैनात एक सिपाही ने थाने से कुछ दूरी पर अपनी कार में सर्विस पिस्टल से कनपटी पर गोली मारकर खुदकुशी कर ली। हालांकि परिवार वालों ने हत्या की आशंका जताई है। शनिवार सुबह सिपाही का शव कार में सड़ी गली अवस्था में मिला। उसके पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वह छुट्टी पर था। छुट्टी पर जाने के दौरान सिपाही ने अपनी सर्विस पिस्टल जमा नहीं करवाई थी, जिसकी पुलिस जांच कर रही है। पुलिस परिवार वालों से पूछताछ के साथ-साथ सिपाही के मोबाइल फोन को जब्त कर उसकी कॉल डिटेल को खंगाल रही है।

जिला पुलिस उपायुक्त प्रणव तायल ने बताया कि सिपाही की पहचान अमनदीप के रूप में हुई है। वह अपने परिवार के साथ बुधविहार में रहता था। शनिवार सुबह नौ बजे प्रशांत विहार थाना पुलिस को एक राहगीर ने बताया कि इलाके के एक पेट्रोल पंप की चहारदीवारी के किनारे खड़ी एक कार में शव पड़ा हुआ है। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने सफेद रंग की सैंट्रो कार की ड्राइविंग सीट से युवक के शव को बरामद किया। बाद में युवक की पहचान प्रशांत विहार थाने में तैनात सिपाही अमनदीप के रूप में हुई। शव सड़ी गली अवस्था में था।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शव करीब तीन से चार दिन पुराना है। पुलिस ने शव को मोर्चरी में रखवा दिया है। पुलिस ने अमनदीप के परिवार वालों को घटना की जानकारी दी। छानबीन के दौरान मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। जांच में पता चला कि अमनदीप कुछ दिन से छुट्टी पर था। फॉरेंसिक और क्राइम टीम ने छानबीन कर साक्ष्य जुटाए। अमनदीप के पिता रूप सिंह ने बेटे की हत्या की आशंका जताई है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले की छानबीन कर रही है।

अमनदीप के पिता रूप सिंह ने बताया कि साल 2010 में अमनदीप दिल्ली पुलिस में शामिल हुआ था। परिवार में माता-पिता, पत्नी सुखदीप कौर, बेटा अरशबीर सिंह(6) और सहज कौर(3) है। परिवार बुध विहार में रहता है। उनके पिता ने बताया कि 26 जून को अमनदीप के बेटे अरशबीर का जन्मदिन था। वह काफी खुश था।

उन्होंने बताया कि ऐसी कोई परेशानी नहीं थी, जिसकी वजह से वह खुदकुशी करे। रूप सिंह ने बताया कि अमनदीप 28 जून को घर नहीं आया था। उन्होंने काफी संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उससे संपर्क नहीं हो पाया। उसके दोस्तों से भी संपर्क किया, लेकिन उसका कोई पता नहीं चला। इस पर उन्होंने अपने स्तर पर उसकी तलाश शुरू कर दी। उन्होंने बताया कि 27 जून को उनकी बेटे से बात हुई थी। 

रूप सिंह ने बताया कि पुलिस अमनदीप की मौत को खुदकुशी बता रही है। लेकिन जिस तरह खड़ी कार के पहिए के ताजा निशान हैं, ड्राइविंग सीट के पीछे लगे शीशे पर गोली का निशान और कार पर धूल नहीं होने से हत्या किए जाने की आशंका है। उन्होंने थाने के पास गोली चलने और किसी को सुनाई नहीं देने पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने पुलिस से सीसीटीवी कैमरों की जांच करने की मांग की है। उन्होंने आशंका जताई है कि गोली शीशे से सटाकर मारी गई है।

शुरूआती जांच में पता चला कि अमनदीप 28 जून की सुबह पांच बजे मालखाने से पिस्टल लेकर निकला था। थाने में मालखाने के पास लगे सीसीटीवी कैमरे में वह कैद हुआ है। पुलिस ने फुटेज को कब्जे में ले लिया है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.