UP Elections: अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी में शामिल हुए बीजेपी और बसपा के विधायक

PC: BBC Hindi

बहुजन समाज पार्टी से निष्कासित और पूर्वांचल से गोरखपुर का बड़ा ब्राह्मण चेहरा माने जाने वाले नेता हरिशंकर तिवारी ने अपने दो बेटों के साथ समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया।

हरिशंकर तिवारी के बड़े बेटे भीम शंकर तिवारी उर्फ़ कुशल तिवारी संत कबीर नगर से लोकसभा में सांसद रह चुके हैं। वहीं उनके छोटे बेटे विनय शंकर तिवारी गोरखपुर के चिल्लापुर से बसपा के विधायक हैं।

इन तीनों पिता-पुत्र को पिछले सप्ताह सपा में शामिल होने की अटकलों के बीच बसपा से निष्कासित कर दिया गया था।

बीजेपी विधायक भी हुए सपा में शामिल

इसके अलावा ख़लीलाबाद से बीजेपी विधायक दिग्विजय नारायण चौबे उर्फ़ जय चौबे भी भाजपा से अपना नाता तोड़ समाजवादी बन गए।

रविवार को उन्होंने पार्टी की सदस्यता ली।

चौबे सपा में शामिल होने वाले भाजपा के दूसरे विधायक हैं।

इससे पहले सीतापुर से बीजेपी विधायक राकेश राठौड़ ने भी अपनी पुरानी पार्टी का साथ छोड़ सपा में शामिल हो गए।

इतना ही नहीं, बसपा के शासनकाल में उत्तर प्रदेश विधान परिषद के अध्यक्ष रहे गणेश शंकर पांडेय ने भी समाजवादी पार्टी की सदस्यता प्राप्त की।

परिवार सहित हरिशंकर तिवारी और जय चौबे के शामिल होने से अखिलेश यादव देना चाहते हैं कि प्रदेश में ब्राह्मण भी सपा की ओर आकर्षित हो रहे हैं।

यूपी 2022 चुनावों से पहले विपक्ष बीजेपी को ब्राह्मण विरोधी साबित करना चाहता है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.