Advertisement

Income from scrap: दफ्तर का कूड़ा बेच सरकारी खजाने में जमा कराए 62 करोड़ रुपये

Share
Advertisement

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने बताया है कि प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग ने सरकारी खजाने में 62 करोड़ रुपये का योगदान दिया है। यह आमदनी विभाग की ओर से दफ्तरों के बेकार सामान जिनमें मुख्य रूप से इलेक्ट्रॉनिक आइटम थे बेचने से हुई थी।  

Advertisement

आपको बता दें कि कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन राज्य मंत्री बेंगलुरु में दो दिवसीय क्षेत्रीय सम्मेलन “Bringing Citizens, Entrepreneurs and Government Closer For Good Governance” के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने बताया है कि प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग ने केवल स्वच्छता की बात नहीं कि बल्कि इसके लिए सकारात्मक पहल भी की। हमने दफ्तर के बेकार चीजों को बेचकर 62 करोड़ रुपये की आमदनी की है। 

केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि इस तरह के कार्यक्रम एक नये स्टार्टअप एवेन्यू की तरह हैं, उन्होंने आशा व्यक्त की कि अगली बार जब स्वच्छता अभियान शुरू होगा तो इस तरह के कई उद्यम आगे आएंगे। उन्होंने कहा कि सिर्फ स्क्रैप बेचकर हमने सरकार के खजाने में 62 करोड़ रुपये का योगदान दिया है और ऐसा काम करने में एकीकृत दृष्टिकोण के कारण संभव हो पाया है।

आपको बता दें कि इस कार्यक्रम के दौरान कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर, मुख्य सचिव वंदिता शर्मा समेत कई वरीय अधिकारी भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *