सीएम धामी ने अचानक चिंतन शिविर में दी दस्तक, अफसरों के बीच श्रोता के रूप में बैठे मुख्यमंत्री

मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में चल रहे चिंतन शिविर में मुख्यमंत्री धामी अचानक सरदार पटेल भवन सभागार पहुँचे। मुख्यमंत्री अधिकारियों के बीच बैठकर एक श्रोता के रूप में अधिकारियों के विचारों को सुनने लगे। मुख्यमंत्री ने इस दौरान बेहद गंभीरता के साथ दिए जा रहे प्रेजेंटेशन को देखा।

सभागार में सबसे पीछे की लाइन में बैठकर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों के विचारों और सुझावों को भी तन्मयता के साथ सुना। इस दौरान चिंतन शिविर में पर्यटन और नागरिक उड्डयन को लेकर प्रेजेंटेशन दिया गया। पर्यटन सचिव सचिन कुर्वे ने प्रेजेंटेशन के जरिए बताया कि राज्य में पर्यटन सालाना 12 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है।

अधिकांश पर्यटक धार्मिक पर्यटन के लिए आ रहे हैं जबकि हिमाचल प्रदेश विदेशी पर्यटकों और एडवेंचर टूरिज्म के क्षेत्र में उत्तराखंड से आगे है। इसलिए पर्यटन के क्षेत्र में सुधार की जरूरत है। अपर सचिव नागरिक उड्डयन सी रविशंकर ने बताया कि राज्य में सिविल एविएशन का क्षेत्र तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि हमें ट्रैवल अनुभव के क्षेत्र में सुधार करने की जरूरत है।

चिंतन शिविर में चल रहे वैचारिक मंथन पर सीएम धामी सीधी नजर बनाए हुए हैं। जिससे राज्य को 2025 तक उत्तराखंड को श्रेष्ठ राज्य में शामिल करने की कार्ययोजना बनाने में कोई कमी नहीं रहने पाए।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *