UP Chunav 2022: पहले चरण के 615 प्रत्याशियों में से 156 दागी प्रत्याशी, पढ़िए ADR की पूरी रिपोर्ट

चुनावों को तमाम सुधार प्रयासों के बावजूद भी चुनाव आयोग बिना आपराधिक छवि वाले प्रत्याशियों के बिना कराने में सफल नहीं है. यूपी विधानसभा चुनाव में ऐसे बहुत से प्रत्याशी है, जो आपराधिक छवि वाले है. राजनीतिक दल भी आपराधिक छवि वाले उम्मीदवारों को मैदान में उतारने से बिल्कुल नहीं झिझक रही है.

ADR ने पेश की रिपोर्ट

विधानसभा चुनावों पर नजर रखने वाली संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स यानी ADR ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण का नामांकन कर चुके प्रत्याशियों के हलफनामे का निरीक्षण किया है. ADR ने पहले चरण के लिए कुल 615 नामांकन दाखिल कर चुके प्रत्याशियों के चुनावी हलफनामे का अध्ययन करके अपनी रिपोर्ट जारी की है.

156 आपराधिक प्रत्याशियों ने किया नामांकन

ADR की रिपोर्ट की मानें तो पहले चरण के कुल 615 उम्मीदवारों में से 156 प्रत्याशियों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामलों की जानकारी दी है यानी पहले चरण में कुल 25 फीसदी दागी उम्मीदवार हैं. इतना ही नहीं इनमें से 121 उम्मीदवार ऐसे हैं जिनके ऊपर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं यानी कुल 20 फीसदी गंभीर मामलों में आरोपी पार्टियों द्वारा उम्मीदवार बनाए गए हैं.

किस पार्टी के कितने प्रत्याशी?

आपको बता दे कि यूपी में पहले चरण का मतदान 10 फरवरी को होना है. समाजवादी पार्टी के टिकट पर नामांकन भरने वाले कुल 28 उम्मीदवारों में 21 उम्मीदवार यानि 75 फीसदी ने अपने खिलाफ आपराधिक मामलों की जानकारी हलफनामे में दी है.

इसके बाद RLD यानी राष्ट्रीय लोक दल द्वारा 29 प्रत्याशियों में से 17 उम्मीदवार यानी 59 फीसदी ने अपने खिलाफ आपराधिक मामलों की जानकारी दी है. इसके बाद BJP के 57 प्रत्याशियों में से 29 यानी 51 फीसदी प्रत्याशी दागी पाए गए है. जिन पर आपराधिक मामले दर्ज है. कांग्रेस के 58 में से कुल 21 यानी 36 फीसदी के खिलाफ अपराधिक मामले दर्ज हैं. BSP के 56 प्रत्याशियों में से 19 यानी 64 फीसदी आरोपी है.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.