POK चुनाव में भारत की प्रतिक्रिया से झुंझलाया पाकिस्तान, राजनयिक को भेजा समन

Imran Khan during an Election Campaign at POK

नई दिल्ली: पाकिस्तान ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में हुए चुनाव पर भारत की प्रतिक्रियाओं का “खंडन” किया है। इसी संदर्भ में पाकिस्तान ने इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग के एक शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि भारतीय राजनयिक को ये बताने के लिए समन कर विदेश मंत्रालय बुलाया गया कि पाकिस्तान भारत के चुनाव को लेकर विरोध को पूरी तरह से ख़ारिज करता है।

25 जुलाई को POK में हुए चुनाव में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान ख़ान की पार्टी पीटीआई को शानदार बहुमत से जीत मिली थी और वो पहली बार वहां सत्ता पर काबिज हो गई है।

भारत ने पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में हुए चुनाव पर कड़ा विरोध जताते हुए पाकिस्तान को POK छोड़ने के लिए कहा था।

साथ ही भारत ने इन चुनाव को एक “दिखावा” बताते हुए कहा था कि ये कुछ नहीं बल्कि पाकिस्तान के “अवैध कब्ज़े को छिपाने की एक कोशिश” है।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची

गरूवार को भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा था कि पाकिस्तान का “भारतीय क्षेत्रों पर कोई अधिकार नहीं है” और उसे इन्हें तुरन्त खाली करना चाहिए।

उन्होंने अपने बयान में ये भी कहा था, “पाकिस्तान के अवैध क़ब्ज़े वाले भारतीय क्षेत्र में 25 जुलाई को हुआ ये तथाकथित चुनाव और कुछ नहीं बस पाकिस्तान की ओर से अवैध क़ब्ज़े पर पर्दा डालने की एक कोशिश है।”

इसी के जवाब में अब पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि “भारत को जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों से अपने अवैध क़ब्ज़े को तत्काल ख़त्म करना चाहिए। इसके अलावा जम्मू और कश्मीर विवाद पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों को पूरी तरह से लागू करना चाहिए”।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें