Advertisement

XPOSAT Launching: ISRO फिर रचेगा इतिहास, न्यूट्रॉन स्टार्स की करेगा स्टडी

Share
Advertisement

1 जनवरी यानी की आज सुबह 9:10 बजे श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से एक्स-रे पोलारिमीटर सैटेलाइट (XPoSat) का उद्घाटन होगा। PSLV रॉकेट इसे पृथ्वी की निचली कक्षा में स्थानांतरित करेगा। यह ब्लैक होल और न्यूट्रॉन स्टार्स को देखने के लिए सैटेलाइट X किरणों का डेटा कलेक्ट करेगा। सैटेलाइट में दो पेलोड पोलिक्स और एक्सपेक्ट पाए गए हैं।

Advertisement

XPoSat आदित्य L1 और Astrosat के बाद अंतरिक्ष में स्थापित होने वाला तीसरा उपग्रह होगा। यह दुनिया का दूसरा पोलरिमेट्री मिशन भी है, जो 2021 में नासा के इमेजिंग एक्स-रे पोलरिमेट्री एक्सप्लोरर (IXPE) के बाद भारत में शुरू हुआ था। PSLV रॉकेट के साथ भी स्पेस टेक स्टार्टअप ध्रुव स्पेस, बेलाट्रिक्स एयरोस्पेस और TM2स्पेस के पेलोड भेजे जाएंगे।

Black Hole, न्यूट्रॉन स्टार्स के रेडिएशन की स्टडी

XPoSat का उद्देश्य विभिन्न एस्ट्रोनॉमिकल सोर्सेज (जैसे ब्लैकहोल, न्यूट्रॉन स्टार्स, एक्टिव गैलेक्टिक न्यूक्लियाई, पल्सर विंड नेबुला) से निकलने वाली रेडिएशन को देखना है। ये फिजिकल प्रोसेस बहुत कठिन हैं और इनके एमिशन को समझना बहुत मुश्किल है।

नासा ने 2021 में लॉन्च किया था एक्स-रे पोलारिमेट्री एक्सप्लोरर

नासा का पहला मिशन, इमेजिंग एक्स-रे पोलारिमेट्री एक्सप्लोरर (IXPE), कई अलग-अलग खगोलीय वस्तुओं से एक्स-रे के पोलराइजेशन की जांच करेगा। यह 9 दिसंबर 2021 को लॉन्च किया गया था और पृथ्वी से 540 किलोमीटर ऊपर था।

ये भी पढ़ें: 2024 का काउंटडाउन शुरू, काशी-उज्जैन में आरती, गोवा, मुंबई और बेंगलुरु में रात भर चली पार्टी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *