WHO Claims: कोरोना से भारत में हुई मौत को लेकर WHO के डेटा पर भारत सरकार ने उठाया सवाल

दुनिया भर में कोरोना महामारी ने पीछले दो सालों में काफी तबाही मचाई थी। कोरोना के कारण पूरे विश्वभर में करोड़ों लोगों ने अपनी जाने गंवाई थी। ऐसे में बता दें  WHO(विश्व स्वास्थ्य संगठन)  ने वैज्ञानिकों को वर्ष 2020 से लेकर पिछले साल के अंत तक विश्वभर में मौत की सही जानकारी लाने की जिम्मेदारी दी गई थी। इस रिपोर्ट के मुताबिक पूरे विश्वभर में 1.33 करोड़ लोगों की मौत कोरोना वायरस से या फिर स्वास्थ्य सेवा पूर्ण रुप से मौजूद न होने के कारण हुई थी। वहीं जारी आकड़ों की बात करें तो भारत में बताया गया की कुल 47 लाख से अधिक मौतें हुई हैं। बता दें जारी संख्या भारत के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आधिकारिक आंकड़ों से करीब 10 गुना ज़्यादा है। हालांकि WHO द्वारा जारी इस आंकड़ों पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई हैं। WHO  के प्रमुख ‘टेड्रोस’ ने जारी आंकड़े को काफी गंभीर  बताया है। बता दें जारी आकड़ें को WHO ने ये डाटा तमाम देशों द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों और सांख्यिकी मॉडलिंग पर आधारित है।

WHO की रिपोर्ट पर भारत ने जताई आपत्ति

भारत में बात करें कोरोना से हुई मौतों को लेकर अब सवाल उठने लगे है। ऐसे में भारत की सरकार ने इस सप्ताह कोरोना से मौत को लेकर नए आंकड़ा जारी किया हैं। इससे ये पता चला कि भारत में पिछले साल की तुलना में 2020 में 4 लाख से अधिक लोगों की मौतें हुई थी। इसके साथ बता दें स्वास्थ्य मंत्रालय ने अभी 2021 के लिए मौत का अनुमान जारी नहीं किया हैं। भारत सरकार ने गुरुवार को WHO(विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा जारी कोरोनो वायरस महामारी से जुड़े अतिरिक्त मृत्यु अनुमानों को पेश करने व उसमें गणितीय मॉडल के उपयोग को लेकर कड़ी आपत्ति जताई है। भारतीय सरकार ने कहा कि इस्तेमाल किए गए मॉडलों की वैधता और मजबूती और डेटा की कार्यप्रणाली संग्रह पूरी तरह से संदिग्ध प्रतित होती है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.