Advertisement

मणिपुर में जो कुछ भी हो रहा, वो पिछली केंद्र सरकार की विरासत : बीरेन सिंह

Share
Advertisement

Manipur : राज्य में अभी तक शांति कायम नहीं हो पाई है। लोगों के हाथों में अभी तक हथियार नजर आ रहे हैं। केंद्र और राज्‍य सरकारों द्वारा मणिपुर में शांति स्‍थापित करने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है। हालांकि, मणिपुर के सीएम एन. बीरेन सिंह ने बताया कि संघर्ष का आयाम अब बदल गया है। अब लड़ाई उग्रवादियों और राज्य पुलिस के बीच हो रही है। हमलों के डर से लोग अभी भी लूटे गए हथियार थामे हुए हैं, हम उन्हें वापस पाने की कोशिश कर रहे हैं। मणिपुर में शांति के लिए सीमा पर बाड़ लगाना, मुक्त आवाजाही व्यवस्था को रद्द करना जरूरी है। साथ ही, बीरेन सिंह ने कहा कि मणिपुर में जो कुछ भी हो रहा है, वो पिछली केंद्र सरकार की विरासत है।

Advertisement

अब संघर्ष का आयाम बदल गया है

मुख्‍यमंत्री बीरेन सिंह ने कहा कि असल में पिछले 8 महीनों में राज्‍य में कुछ अनचाही घटनाएं (हत्‍या, आगजनी) हुई हैं। लेकिन, ऐसा नहीं है कि लगातार 8 महीने से घटनाएं हो रही हों। इस दौरान 3 से 4 महीने कोई अनचाही घटना नहीं हुई, काफी शांति रही। लेकिन, हाल ही में नए साल के अवसर पर राज्‍य पुलिस और उग्रवादियों के बीच भिड़ंत हुई, ये राज्‍य के दो समुदायों के बीच संघर्ष नहीं था। अब संघर्ष का आयाम बदल गया है, लड़ाई अब उग्रवादियों और राज्य पुलिस के बीच हो रही है।

बीरेन सिंह ने क्या कहा?

ऐसे में शांति लौट रही है और नागरिक हताहतों की संख्या कम हो गई है। 3-4 मई के बाद कोई बड़ी हिंसक घटना नहीं हुई है। अब लोग सर्तक हुए हैं, शांति बनाए रखने का प्रयास कर रहे हैं, फिर वो चाहे घाटी के लोग हों या पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले हमारे भाई-बहन।   

यह भी पढें – कांग्रेस के लिए मुस्लिम सिर्फ वोट बैंक, राहुल की यात्रा का नहीं होगा कोई फायदा : बदरुद्दीन अजमल  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *