Advertisement

पुलवामा हमले में शामिल 19 आतंकवादियों में से 8 का सफाया, 7 को जेल और 4 पाकिस्तान में: एडीजीपी कश्मीर

Share
Advertisement

2019 के पुलवामा आतंकी हमले की बरसी पर एडीजीपी कश्मीर जोन विजय कुमार ने मंगलवार को पुष्टि की कि घातक हमले में शामिल सभी आतंकवादियों को सजा दी गई है, सिवाय 4 के जो पाकिस्तान में छिपे हुए हैं।

Advertisement

उन्होंने यह भी कहा कि जम्मू-कश्मीर में 37 सक्रिय आतंकवादी हैं और श्रीनगर में कोई नया आतंकवादी नहीं घुसा हुआ है।2019 के पुलवामा आतंकी हमले की बरसी पर एडीजीपी कश्मीर जोन विजय कुमार ने मंगलवार को पुष्टि की कि घातक हमले में शामिल सभी आतंकवादियों को सजा दी गई है, सिवाय 4 के जो पाकिस्तान में छिपे हुए हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि जम्मू-कश्मीर में 37 सक्रिय आतंकवादी हैं और श्रीनगर में कोई नया आतंकवादी भर्ती नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा, “जेईएम के 7-8 स्थानीय आतंकवादी बचे हैं और पुलवामा में सक्रिय मूसा सुलेमानी सहित 5-6 पाकिस्तानी आतंकवादी जल्द ही मारे जाएंगे। जेएम ने पिछले 6 महीनों से आतंकिवादियों भर्ती बढ़ा दी है। अब उन्हें जम्मू-कश्मीर में फलने-फूलने नहीं देंगे।”

एडीजीपी कुमार ने आगे कहा, “वर्तमान में कश्मीर में 37 सक्रिय आतंकवादी हैं। श्रीनगर में कोई नया आतंकवादी भर्ती नहीं हुआ है।”

14 फरवरी, 2019 को, पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद (JeM) ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के काफिले पर हमला किया था, जिसमें बल के 40 जवान मारे गए थे।

नृशंस आतंकी हमले के कुछ दिनों बाद, भारतीय युद्धक विमानों ने जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के बालाकोट के अंदर जैश के सबसे बड़े आतंकवादी ट्रेनिंग कैम्प पर हमला किया।

आतंकी मामले की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने जेएम प्रमुख मसूद अजहर, उसके भाई अब्दुल रऊफ असगर, मारे गए आतंकवादी मोहम्मद उमर फारूक, आत्मघाती हमलावर आदिल अहमद डार और पाकिस्तान से सक्रिय अन्य आतंकवादी कमांडरों को आरोपी बनाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *