Advertisement

गजवा-ए-हिंद मॉड्यूल मामले में एनआईए ने की छापेमारी

Share
Advertisement

Madhya Pradesh: गजवा-ए-हिंद मॉड्यूल मामले में एनआईए ने मध्य प्रदेश के अलावा कई राज्यों में छापेमारी की है। सनद रहे कि गजवा-ए-हिंद मॉड्यूल को लेकर राज्य के देवास जिले में एनआईए की रेड पड़ी है। एनआईए ने छापेमारी में कई आपत्तिजनक उपकरण और दस्तावेज जब्त किए हैं। जिसका मकसद हमारे देश को क्षति पहुंचना था।

Advertisement

अहम जानकारी पाकिस्तान के साथ साझा कर रहे थे

मध्य प्रदेश के देवास जिले में हुई छापेमारी में एनआईए को संदिग्धों के पाकिस्तान स्थित आकाओं के साथ संबंधों का भी सुराख मिला है। तलाशी लेने वाले संदिग्ध गजवा-ए-हिंद के कट्टरपंथी, भारत-विरोधी विचार का प्रचार-प्रसार करने में शामिल थे। जो कई अहम जानकारी भी पाकिस्तान के साथ साझा कर रहे थे।

NIA ने कब-कब की गिरफ्तारी?

यह छापेमारी मध्य प्रदेश के देवास जिले, गुजरात के गिर सोमनाथ जिले में संदिग्धों के परिसरों पर की गई। सनद रहे कि 14 जुलाई 2022 को बिहार के पटना जिले में फुलवारी शरीफ पुलिस द्वारा मरगूब अहमद दानिश उर्फ ​​ताहिर की गिरफ्तारी के बाद NIA ने FIR दर्ज की थी। वहीं 23 नवंबर को बिहार के कैमूर में ताबड़तोड़ छापेमारी करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया था।

पहले किन-किन राज्यों में हुई छापेमारी?

पिछले दिनों एनआईए की कई टीम मानव तस्करी मामले में दस राज्यों में छापेमारी कर चुकी हैं। जिन राज्यों में छापेमारी की गई उनमें त्रिपुरा, असम, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, तमिलनाडु, तेलंगाना, हरियाणा, पुडुचेरी, राजस्थान और जम्मू-कश्मीर शामिल हैं। अंतरराष्ट्रीय संबंधों वाले मानव तस्करों के रैकेट का पता लगाने के लिए एनआईए अधिकारियों द्वारा इन दस राज्यों में 4 दर्जन से अधिक स्थानों की तलाशी की गई थी।

यह भी पढ़ें – Zimbabwe क्रिकेट टीम की हालत खस्ता हाल, T20 World Cup के क्वालिफायर में युगांडा जैसी टीम से हारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *