स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा, पूरे विश्‍व में 14 प्रतिशत बच्‍चों का मानसिक रूप से अस्‍वस्‍थ होना चिंता का विषय

नई दिल्ली: स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Health Minister Mansukh Mandaviya) ने दुनिया भर में मानसिक रूप से बीमार (mentally handicapped) 14 प्रतिशत बच्चों की समस्या पर गंभीर चिंता व्यक्त की है। बता दें कि यह बात स्वास्थ्य मंत्री मंडाविया ने बच्चों की स्थिती को ध्यान में रखते हुए कही है।

मालूम हो कि वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से यूनिसेफ की रिपोर्ट जारी करते हुए स्वास्थ्य मंत्री मंडाविया ने बताया है कि अगर हम मानसिक उपचार की अनदेखी करेंगे तो स्‍वस्‍थ समाज का निर्माण नहीं कर सकेंगे। जानकारी के अनुसार, कोरोना वायरस जैसी महामारी ने मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के खतरे को बढा दिया है।

जिससे पूरी दुनिया में बच्चों और युवाओं के मानसिक स्वास्थ्य पर इसका असर पड़ा है। बता दें कि लगभग 21 देशों के 20 हजार बच्‍चों और युवाओं पर किए गए 2021 के वैश्विक सर्वेक्षण में यूनिसेफ ने पाया कि हर पांच में से एक युवा मानसिक रूप से अस्‍वस्‍थ था।

इसके अलावा, कोरोना वायरस (corona virus) जैसी महामारी के दौरन अगर प्यार से देखभाल, स्कूल का सुरक्षित वातावरण और सहकर्मियों की सकारात्‍मक सोच से मानसिक स्वास्थ्य के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.