Advertisement

एथिक्स कमेटी के चेयरमैन बेहूदा और बेशर्म हैं : महुआ मोइत्रा

Share
Advertisement

New Delhi: संसद में प्रश्न पूछने के लिए रिश्वत लेने के मामले में फंसीं सांसद महुआ मोइत्रा ने एक बार फिर एथिक्स कमेटी पर जोरदार निशाना साधा है। महुआ ने एक्स पर लिखा कि एथिक्स कमेटी की ओर से पूछे गए प्रश्न घटिया और अप्रासंगिक थे। मेरे पास इसका रिकॉर्ड हैं। एथिक्स कमेटी के चेयरमैन बेहूदा और बेशर्म हैं।

Advertisement

अड़ाणी पर कोयला घोटाले में FIR करों

सांसद महुआ ने कहा कि यह जानकर मेरी रूह कांप रही है कि बीजेपी मेरे विरुद्ध क्रिमिनल केस बनाने की योजना बना रही है। मेरे पास कितने जोड़ी जूते हैं यह जानने की बजाय CBI और ED अड़ाणी पर 13000 करोड़ रुपए के कोयला घोटाले में FIR करें। सनद रहे कि मोइत्रा दो नवंबर को एथिक्स कमेटी के दफ्तर पहुंची थीं। पूछताछ बीच में ही छोड़कर मोइत्रा कमेटी के दफ्तर से नाराज होकर बाहर निकलीं गई थी। महुआ ने कमेटी के चेयरमैन पर अपमानजनक प्रश्न करने के आरोप लगाए थे।

मोइत्रा ने ओम बिड़ला को लिखा है पत्र

महुआ मोइत्रा ने इसे लेकर लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला को पत्र भी लिखा है। जिसमें महुआ ने ये भी लिखा कि चेयरमैन विनोद सोनकर का बर्ताव अनैतिक, घिनौना और पूर्वाग्रह से भरा था।

राजनीति से ले लूंगा संन्यास

मोइत्रा के इन आरोपों पर भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने कहा कि एथिक्स कमेटी अध्यक्ष सोनकर ने मोइत्रा से टिकट व होटल का बिल मांगा था। यदि इसके अलावा उन्होंने महुआ के किसी भी पुरुष दोस्त या होटल में उसके साथ रुकने का सवाल पूछा होगा तो मैं राजनीति से संन्यास ले लूंगा। निशिकांत दुबे ने ही 15 अक्टूबर को लोकसभा स्पीकर से महुआ की शिकायत की थी। दुबे ने कहा था कि महुआ मोइत्रा ने संसद में प्रश्न पूछने के लिए कारोबारी हीरानंदानी से पैसे लिए थे।

यह भी पढ़े : International Flying Festival: शिमला में 12 से 15 अक्टूबर तक फ्लाइंग फेस्टिवल, देश-विदेश से प्रतिभागी हो रहे है शामिल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें