Advertisement

दक्षिण अफ्रीका : ला नीना के कारण गहराई बाढ़ की समस्या, राष्ट्रीय आपदा की घोषणा

दक्षिण अफ्रीका बाढ़
Share
Advertisement

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा ने देश के नौ प्रांतों में से सात को प्रभावित करने वाली व्यापक बाढ़ के बाद देश में राष्ट्रीय आपदा  घोषित किया है।

Advertisement

सोमवार को राष्ट्रपति कार्यालय के एक बयान के अनुसार, ला नीना के परिणामस्वरूप भारी वर्षा से आई बाढ़ से म्पुमलंगा और पूर्वी केप सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं।

वैज्ञानिक भाषा में प्रशांत महासागर में भूमध्य रेखा से ऊपर 140 से 120 डिग्री के बीच के हिस्से को नीनो-3.4 रीजन कहा जाता है, जब इस क्षेत्र में समुद्री सतह का तापमान सामान्य से नीचे होता है तो इस स्थिति को ला-नीना कहते हैं।

गौटेंग, क्वाज़ुलु-नटाल, लिम्पोपो, उत्तरी केप और उत्तर पश्चिम में भी बाढ़ आई है। राष्ट्रीय आपदा अधिनियम लागू करने से सरकार को अतिरिक्त शक्तियाँ मिलती हैं, जिसमें वस्तुओं और सेवाओं की खरीद और वितरण और वर्तमान कानून के तहत प्रतिबंधों को बायपास करने की क्षमता शामिल है।

बयान में कहा गया है कि बाढ़ से निपटने में मदद के लिए राष्ट्रीय पुलिस और रक्षा बल को बुलाया जा सकता है। बयान के अनुसार, बाढ़ के व्यापक प्रभाव हुए हैं जिसमें घरों और वाहनों में पानी भर जाने से लेकर बुनियादी ढांचे के नुकसान तक शामिल है।

किसानों को उम्मीद है कि फसल और पशुधन का नुकसान जारी रहेगा क्योंकि सरकारी मौसम विभाग का अनुमान है कि मौसम का पैटर्न 2023 के शुरुआती भाग के दौरान बना रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें