Advertisement

अल अहली अस्पताल पर इजरायल का हमले से इनकार

Al ahli Hospital Gaza

PC: Palestine Chronicle

Share
Advertisement

Attack on Al Ahli: इजरायल और हमास के बीच जारी संघर्ष और गहराता जा रहा है. हमास ने इजरायल के अस्पताल अल अहली में छीपे लोगों पर रॉकेट बरसाने का आरोप लगाया है. इस रॉकेट हमले में 500 से अधिक लोगों की मौत हो गई है.

Advertisement

Attack on Al Ahli: इजरायल का हमले से इनकार

हालांकि इजरायल ने इस हमले से इनकार किया है. उनका कहना है कि इस्लामिक जिहाद के लोगों ने रॉकेट बरसाया था जो मिस फायर हो गया. जिसके चलते अल अहली अस्पताल में छीपे शरणार्थियों की मौत हो गई. अभी भी कई और लोगों के मलबे में दबे होने की खबर है.

व्हाइट हाउस का बयान

उधर व्हाइट हाउस ने कहा है कि इजरायल ने अल अहली अस्पताल पर हमले की ज़िम्मेदारी से स्पष्ट रूप से इनकार किया है. साथ ही बताया है कि उसका इस हमले में कोई हाथ नहीं है.

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि अमेरिका इजरायल के इस बयान को अच्छे से समझता है कि ग़ाज़ा शहर के एक अस्पताल पर हुए हमले में इजरायल का कोई लेना देना नहीं है.

Attack on Al Ahli: फिलिस्तीनियों का दावा

उधर फ़िलिस्तीनी क्षेत्र के अधिकारियों ने दावा किया है कि अस्पताल पर हुए हमले में कम से कम 500 लोगों की मौत हो गई है. हमास इजरायल को इस हमले का ज़िम्मेदार ठहरा रहा है.

वहीं, इजरायल ने आरोपों को खारिज करते हुए खुद की भूमिका होने से इनकार किया है और कहा कि ये हमला ‘फ़िलस्तीनी इस्लामिक जिहाद’ के रॉकेट मिस फायर का परिणाम है. हालांकि इस चरमपंथी संगठन ने भी इस हमले की ज़िम्मेदारी से इनकार किया है.

ब्रिटेन का बयान

इस बीच ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेम्स क्लेवरली का भी मामले में बयान आया है.

उन्होंने कहा है कि वो इजरायल के साथ ये पता लगाने की कोशिश करेंगे कि ये हमला कैसे हुआ ताकि ग़ाज़ा में निर्दोष लोगों को सुरक्षा मिल सके.

यूएन ने की संघर्ष विराम की अपील

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटरेस ने भी इस हमले की निंदा की है. साथ ही कहा है कि तत्काल मानवीय आधार पर संघर्ष विराम होना चाहिए ताकि लोगों की पीड़ा और दुख कम हो सके. इस क्षेत्र के कई लोगों का जीवन और भाग्य अधर में लटका हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें