शुक्रवार के उपाय: धन- प्राप्ति के लिए जरूर करें ये काम, मां लक्ष्मी की बरसेगी कृपा

मां लक्ष्मी के जो भक्त शुक्रवार के दिन उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए उपाय करते हैं। देवी लक्ष्मी उनसे रीझ कर उन्हें धन-धान्य का आशीर्वाद देती हैं।

Share This News
मां लक्ष्मी

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शुक्रवार का दिन माता लक्ष्मी को समर्पित होता है। इस दिन विधि- विधान से मां लक्ष्मी की पूजा- अर्चना करनी चाहिए। मां लक्ष्मी को धन की देवी भी कहा जाता है। जिस व्यक्ति पर मां लक्ष्मी की कृपा हो जाती है उसको जीवन में कभी भी आर्थिक समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता है। मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शुक्रवार के दिन ये 4 उपाय करने चाहिए। इन उपायों को करने से मां की विशेष कृपा प्राप्त होती है।

धन- प्राप्ति के लिए जरूर करें ये काम

देवी लक्ष्मी के जो भक्त शुक्रवार के दिन उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए उपाय करते हैं। देवी लक्ष्मी उनसे रीझ कर उन्हें धन-धान्य का आशीर्वाद देती हैं। आइए जानते हैं उन उपायों के बारे में जिनसे आप भी माता लक्ष्मी की कृपा पा सकते हैं।

मां को लाल वस्त्र अर्पित करें

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शुक्रवार के दिन मां को लाल वस्त्र अर्पित करने चाहिए। आप मां को सुहाग का सामना भी अर्पित कर सकते हैं। ऐसा करने से मां की विशेष कृपा प्राप्त होती है और आर्थिक समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

मां लक्ष्मी को पुष्प अर्पित करें

पांच लाल रंग के फूल लें। आप चाहें तो गुलाब का फूल भी ले सकते हैं। उन फूलों को हाथ में लेकर देवी लक्ष्मी का ध्यान करें। देवी को प्रणाम करते हुए उनसे यह प्रार्थना करें कि वह आपके घर में धन-धान्य के रूप में हमेशा विराजित रहें। फिर उन पांचों फूलों को अपनी तिजोरी में या जिस स्थान पर पैसे रखते हैं, वहां रखें।

नारायण भगवान की पूजा करें

शुक्रवार की शाम को स्नान आदि कर पवित्र हो जाएं। एक चौकी पर श्री लक्ष्मी नारायण भगवान की मूर्ति विराजमान करें। उसके बाद श्री लक्ष्मी नारायण हृदय स्त्रोत्र का श्रद्धा पूर्वक पाठ करें। पाठ के बाद लक्ष्मी नारायण भगवान को खीर का भोग लगाएं। साथ ही किसी कन्या को पैसे दान करें।

खीर का भोग लगाए

शुक्रवार के दिन श्री लक्ष्मीनारायण भगवान और मां लक्ष्मी को खीर का भोग लगाएं। इस उपाय को करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है और धन- लाभ होता है। 

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.