मुंबई में गणेश उत्सव के अंतिम दिन में विसर्जित की गईं दो हजार से अधिक मूर्तियां

नई दिल्ली: देशभर में गणेश उत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया गया। वहीं, मुंबई में गणेश उत्सव के अंतिम दिन रविवार दोपहर तक शहर में अलग-अलग जगहों पर गणपति और गौरी की 2,185 मूर्तियों का विसर्जन किया जा चुका है। साथ ही स्थानीय निकाय के एक अधिकारी ने जानकारी दी कि कोरोना के चलते इस बार लगातार दूसरे साल बेहद सख्त पाबंदियों के साथ गणेश उत्सव मनाया गया।

मालूम हो कि सामान्य वर्षों में, गणेश उत्सव के चलते मुंबई में गणपति पंडालों में भारी भीड़ और दर्शन के लिए भक्तों की लंबी कतारें लगती थीं। लेकिन कोरोना की वजह से पिछले दो वर्षों से उत्सव थोड़ा फीका सा पड़ गया है। इस साल गणेश उत्सव 10 सितंबर से शुरू हुआ था। वहीं, बीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि नगर निकाय ने गणपति विसर्जन के लिए शहर में 173 जगहों पर कृत्रिम झीलें बनाई हैं।

इसके अलावा वहां प्रतिमाएं इकट्ठा करने के लिए केन्द्र और सचल विसर्जन स्थल भी बनाए गए हैं। दरअसल, ये तमाम व्यवस्थाएं मौजूदा कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए की गयी हैं। साथ ही, बीएमसी के अधिकार क्षेत्र में 73 प्राकृतिक जल स्रोतों में गणपति विसर्जन की पूरी व्यवस्था की गई थी। विसर्जन को ध्यान में रखते हुए बीएमसी ने प्राकृतिक जल स्रोतों के साथ विसर्जन स्थलों पर 715 लाइफ गार्ड तैनात किए थे।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.