Chardham Yatra: इस दिन से खुलेंगे चार धाम के कपाट, श्रद्धालुओं के लिए होंगे खास इंतजाम

Char dham Yatra

Char dham Yatra

उत्तराखंडः चारधाम के दर्शन के लिए देश भर से कई श्रद्धालु आते हैं। चारधाम यात्रा (Chardham Yatra) को लेकर इस बार देश और दुनिया से आने वाले तीर्थ यात्रियों में काफी उत्साह है। इस बीच, यात्रा शुरू होने से एक महीने पहले से ही होटलों की एडवांस बुकिंग हो चुकी है। वहीं, गढ़वाल मंडल विकास निगम (GMVN) के गेस्ट हाउसों (Guest houses) में ऑनलाइन बुकिंग पूरी कर ली गई है।

इस बीच अंदाजा लगाया जा सकता है कि दो साल बाद चारधाम यात्रा में तीर्थयात्रियों का रिकॉर्ड टूट सकता है। मालूम हो कि इस साल चारधाम यात्रा 3 मई से शुरू हो रही है। उधर, यात्रा को लेकर तीर्थ यात्रियों के उत्साह को देखते हुए पर्यटन व्यवसायियों के चेहरे खिल गए हैं। जानकारी के अनुसार अक्षय तृतीया के दिन गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलेंगे। जबकि 6 मई को केदारनाथ और 8 मई को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने हैं।

टूट सकता है तीर्थ यात्रियों का रिकॉर्ड

इसके साथ ही हेमकुंड साहिब की यात्रा 22 मई से शुरू होगी। दरअसल साल 2020 और 2021 में कोरोना महामारी की वजह से चारधाम यात्रा प्रभावित हुई थी। कोरोना काल में सीमित संख्या में ही तीर्थ यात्री चारधाम के दर्शन करने पहुंचे थे। आपको बता दें पिछले दो साल से ठीक यात्रा शुरू होने से पहले कोरोना संक्रमण फैला, जिससे यात्रा सही से संचालित नहीं हो पाई। इस बार कोविड संक्रमण रुकने से तीर्थयात्री चारधाम के दर्शन के लिए काफी उत्साहित हैं।

गेस्ट हाउसों में लगभग सभी कमरों की बुकिंग फुल

इसीलिए गढ़वाल मंडल विकास निगम (GMVN) के चारधाम यात्रा मार्गों (Chardham Yatra Routes) पर 24 गेस्ट हाउस हैं। इन सभी गेस्ट हाउसों में लगभग सभी कमरों की बुकिंग फुल हो चुकी है। जबकि निजी होटलों को भी अच्छी बुकिंग मिल रही है। केदारनाथ हेली सेवा की 15 दिनों के लिए ऑनलाइन बुकिंग फुल हो गई है। उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी का कहना है कि तीर्थयात्री होटलों में एडवांस बुकिंग कर रहे हैं। कोरोना के कारण पर्यटन व्यवसाय को भारी आर्थिक नुकसान हुआ है। इस बार चारधाम यात्रा को लेकर जो उत्साह है, उससे पर्यटन व्यवसायियों को काफी राहत मिलेगी।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.