एनडीसी के दीक्षांत समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बोले- ज्ञान और बुद्धिमता को हमारे समाज में सर्वोच्च गुणों के रूप में माना गया

नई दिल्ली: एनडीसी के दीक्षांत समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा किअफगानिस्तान में हाल की घटनाओं ने हमारे समय की वास्तविकता को उजागर किया है। उभरते भू-राजनीति के बारे में एकमात्र निश्चितता इसकी अनिश्चितता है।

एनडीसी के दीक्षांत समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री आगे बोले कि बुराई पर अच्छाई की जीत के लिए श्रीकृष्ण ज्ञान, बुद्धिमत्ता, शासनकला को साथ लाए। हमारा मकसद राष्ट्रीय,अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रणनीतिक संबंध बनाना है। ये सिद्धांत रणनीतिक सोच के मूलतत्व हैं। ये प्राचीन काल में उतने प्रासंगिक थे जितने आज की चुनौतियों से पार पाने के लिए हैं।

ज्ञान और बुद्धिमता को हमारे समाज में सर्वोच्च गुणों के रूप में माना गया: रक्षा मंत्री

नेशनल डिफेंस कॉलेज दीक्षांत समारोह में राजनाथ सिंह ने कहा कि ज्ञान की भूमिका को किसी देश की सबसे बड़ी सम्पत्ति के रूप में बहुत लंबे समय से महसूस किया गया है। हमने अपने गुरुओं को समाज में सबसे उंचे पायदान पर रखा है। ज्ञान और बुद्धिमता को हमारे समाज में सर्वोच्च गुणों के रूप में माना गया है।

इसी के साथ नेशनल डिफेंस कॉलेज के दीक्षांत समारोह में रक्षामंत्री बोले कि मास्टर ऑफ फिलॉसफी की डिग्री प्राप्त करने वाले सदस्यों को बधाई देते हुए खुशी है। मुझे पता है कि समकालीन समय में सरकार द्वारा सामना की जाने वाली चुनौतियों के व्यावहारिक नीति समाधान की दिशा में आप अकादमिक शोध के दौर से गुजरे हैं।

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *