मथुरा और आगरा में सपा पर जमकर बरसे राजनाथ सिंह, बोले- समाजवादी पार्टी कर रही तुष्टिकरण की राजनीति

Rajnath Singh in Mathura

यूपी विधानसभा चुनाव: यूपी (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) में चुनावी माहौल को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां हुंकार भरते हुए हुई नजर आ रही हैं। अब बड़े-बड़े दिग्गज नेता अपने-अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिए जमीन पर उतर रहे हैं। साथ ही यूपी चुनाव (Uttar pradesh election) के लिए BJP ने चुनाव प्रचार में पूरी ताकत लगा दी है।

राजनीति की जाती है समाज और देश को बनाने के लिए

इसी क्रम में आज मथुरा (Mathura) में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने सपा पर निशाना साधते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) तुष्टिकरण की राजनीति करती है, मैं सपा को कहना चाहता हूं कि इस तरह की राजनीति से बाज आओ। मैं सपा के लोगों को कहना चाहता हूं कि राजनीति केवल सरकार बनाने के लिए नहीं की जाती है, राजनीति समाज और देश को बनाने के लिए की जाती है।

मथुरा है पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जन्मस्थली

आगे उन्होनें (Rajnath Singh in Mathura) संबोधित करते हुए कहा कि यह पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जन्मस्थली है। उनके अंत्योदय के दर्शन को हम सभी मानते हैं। आज बसंत पंचमी है। मैं आप सभी को शुभकामनाएँ देता हूँ और आपके मंगलमय जीवन की कामना करता हूं। कांग्रेस के नेता हमारी सेना के शौर्य और पराक्रम पर सवालिया निशान लगते हैं। इसे क़तई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

Rajnath Singh in Mathura: समाजवादी पार्टी कर रही है तुष्टिकरण की राजनीति

सपा पर वार करते हुए राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) बोले समाजवादी पार्टी तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है। राजनीति केवल सरकार बनाने के लिए नहीं होनी चाहिए बल्कि समाज बनाने के लिए होनी चाहिए। मज़हब और जाति की राजनीति भाजपा को स्वीकार नहीं है। पहले उत्तर प्रदेश में 2-4 मेडिकल कॉलेज थे। आज हम लोगों ने फैसला किया है कि यूपी के हर जिले में मेडिकल कॉलेज होगा। 59 मेडिकल कॉलेज या तो बन गए हैं या तो निर्माणाधीन हैं।

‘जब होगा क़ानून का शासन तभी विकास करेगा योगासन’

वहीं आगरा (Agra) में भी राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि विकास की दरख़्त होती है क़ानून-व्यवस्था का दुरुस्त होना। ‘जब होगा क़ानून का शासन तभी विकास करेगा योगासन’…84 प्रकार के योगासन होते हैं और UP में विकास 83 तरह के योगासन कर रहा है। एक योगासन को हमने विपक्ष के लिए छोड़ा है, जिसका नाम है शीर्षासन।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.