मोदी की रेल निकालेगी जनता का तेल, जानिए पूरी सच्चाई अफवाहों से रहें दूर

japan alchohol

 Railway News : सीनियर सिटीजन के बाद मोदी सरकार ( Modi Government ) की दृष्टि अब भारतीय रेल ( Indian Railway ) में सफर करने वाले बच्चों पर पड़ गई है। रेलवे ने चोर दरवाजे से यात्रियों को जोर का झटका देते हुए अब एक साल के बच्चे का भी फुल टिकट जारी करने का काम शुरू कर दिया है, लेकिन ये आधी सच्चाई है। जो सच्चाई आपको पूरी खबर पढ़कर पता चल जाएगी। जानकारी के लिए बता दें कि अब तक 5 से 11 साल के बच्चों का आधा किराया लगता था। मोदी सरकार की तंगदिली इतनी बढ़ चुकी है कि वो इस बात की सूचना अब पब्लिक तक भी देना जरूरी नहीं समझते हैं, जबकि ऐसा करने से पहले यात्रियों को इस बात की जानकारी देना जरूरी है।

 इस बात का खुलासा उस समय हुआ जब लखनऊ निवासी मयंक ने 13 अगस्त को परिवार के साथ गुजरात के टूर पर जाने के लिए टिकट बुक कराया था। उन्हें राजकोट से सोमनाथ जाना था। ओखा-सोमनाथ एक्सप्रेस की एसी फर्स्ट में उन्होंने रिजर्वेशन कराया। उन्होंने चार यात्रियों में पहला नाम अपने एक वर्ष के बेटे का भरा। रेलवे के सिस्टम ने कम उम्र होने के बावजूद आवेदन पर आपत्ति नहीं की। एक वर्ष के छोटे बच्चे को आम यात्रियों की तरह ही पूरी सीट आवंटित करते हुए पूरा किराया ले लिया। अगर आप भी मयंक की तरह अपने परिवार के साथ यात्रा करने वाले हैं और साथ में एक से चार वर्ष तक की उम्र के बच्चे हैं तो रिजर्वेशन फार्म संभलकर भरें।

इस फैसले का क्या है पूरा सच?

मिली जानकारी के मुताबिक सरकार ने इस बात  को भी साफ किया है कि ये जरूरी नहीं है कि आप एक साल के बच्चे का टिकट लें लेकिन अगर आप अपने एक साल के बच्चे का टिकट कराना चाहते हैं तो करा सकते हैं। आपको बता दें लोगों के बीच सोशल मीडिया में इसी को लेकर गलत अफवाहें  उड़ा दी गईं हैं।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.