योगी सरकार में अकेला मुस्लिम चेहरा, जानें कौन हैं दानिश आजाद

Danish Azad Ansari

लखनऊ: यूपी में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने दूसरी बार यूपी के सीएम पद के रुप में शपथ ले ली है। योगी कैबिनेट में जो नाम खास चर्चा में रहे वो है ‘डेप्युटी सीएम’,  भाजपा ने इस बार भी अपनी सेना में दो डेप्युटी सीएम बनाए है। पहले केशव प्रसाद मौर्य और दूसरे ब्रजेश पाठक। योगी 2.0 में केशव प्रसाद ने तो अपनी कुर्सी बचाई रखी, लेकिन दिनेश शर्मा के बदले इस बार ब्रजेश पाठक को डेप्युटी सीएम की जिम्मेदारी दी गई। ये दो नाम तो खास चर्चा में रहे ही, इनके अलावा जो नाम सबकी नजरों में रहा वो है योगी सरकार में अकेला मुस्लिम चेहरा (Danish Azad Ansari) दानिश आजाद। बीजेपी ने अपने मंत्रिमंडल से पूर्व मंत्री मोहसिन रजा को आउट करके दानिश आजाद अंसारी को Entry दी है।

योगी सरकार में अकेला मुस्लिम चेहरा

आपको बता दें कि योगी 2.0 मंत्रिमंडल में कुल 52 मंत्रियों को जगह दी गई है। वहीं भाजपा ने यूपी विधानसभा चुनाव में एक भी मुसलमान को टिकट नहीं दिया। बावजूद इसके योगी सरकार में बलिया जिले के बसंतपुर गांव निवासी दानिश आजाद अंसारी (Danish Azad Ansari) को राज्यमंत्री के तौर पर जिम्मेदारी दी गई है। भाजपा की पिछली यूपी सरकार की बात करे तो अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री, मुस्लिम वक्फ और हज मंत्री मोहसिन रजा को योगी 2.0 मंत्रिमंडल में बाहर का रास्ता दिखा दिया है।

जानें कौन हैं दानिश आजाद

Danish Azad Ansari के राजनीतिक सफर के बारें में बात करें तो पिछले कई सालों से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के साथ ये जुड़े हुए हैं। उसके बाद Yogi Goverment बनने पर दानिश को भाषा समिति का सदस्य बनाया गया था। वहीं बीजेपी ने पिछले साल दानिश आजाद अंसारी को जिम्मेदारी देते हुए BJP अल्पसंख्यक मोर्चे का प्रदेश महामंत्री बना दिया था। लगातार अल्पसंख्यक समाज के बीच दानिश सक्रिय बने हुए थे, जिसका इनाम उन्हें योगी सरकार का मंत्री बनाकर दिया गया है।

योगी सरकार में एकमात्र मुस्लिम चेहरा Danish Azad Ansari

शिक्षा की बात करें तो दानिश की शुरुआती पढ़ाई बलिया से हुई है। उन्होनें इसके बाद लखनऊ यूनिवर्सिटी से बी. कॉम की पढ़ाई की। पब्लिक ऐडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स की डिग्री भी उन्होनें यहीं से पूरी की। पढ़ाई के समय से ही दानिश एबीवीपी के साथ ऐक्टिव बने हुए थे। बीजेपी की सरकार बनने पर 2017 में दानिश को उनकी सक्रियता का उपहार दिया गया। योगी सरकार में एकमात्र मुस्लिम चेहरा Danish Azad Ansari ही है।

Read Also:- केशव प्रसाद से छीना जितिन प्रसाद को दिया ‘PWD विभाग’, आखिर योगी 2.0 में Jitin को क्यों मिली इतनी तवज्जो?

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.