केजरीवाल सरकार पराली गलाने के लिए खेतों में निःशुल्क बायो डि-कंपोजर के छिड़काव की कल से करेगी शुरूआत – गोपाल राय

नई दिल्ली: केजरीवाल सरकार दिल्ली में वायु प्रदूषण को काबू करने के लिए विंटर एक्शन प्लान के तहत पराली गलाने के लिए कल से किसानों के खेतों में निःशुल्क बायो डि-कंपोजर घोल के छिड़काव की शुरूआत करेगी।

पड़ोसी राज्यों में जलने वाली पराली से खराब होती है दिल्ली की हवा- गोपाल राय

विकास मंत्री गोपाल राय ने बताया कि इस अभियान की शुरूआत नरेला विधानसभा के फतेहपुर जट गांव से की जाएगी। जिन किसानों ने अपने खेत में बायो डि-कंपोजर घोल के छिड़काव की मांग की है, उनके खेतों में कल सुबह से छिड़काव शुरू कर दिया जाएगा। केजरीवाल सरकार ने इस बार दिल्ली में चार हजार एकड़ से अधिक एरिया में पराली गलाने के लिए इस घोल का छिड़काव करने की तैयारी की हुई है, जबकि पिछले साल करीब दो हजार एकड़ एरिया में ही छिड़काव किया गया था। जब से थर्ड पार्टी ऑडिट रिपोर्ट आई है, तब से किसान इसके परिणाम को लेकर काफी उत्साहित हैं।

दिल्ली की तरह पड़ोसी राज्य भी कर सकते हैं अपने किसानों की मदद

केजरीवाल सरकार ने सभी राज्यों से अपील की कि दिल्ली सरकार की तरह वे भी पराली गलाने में अपने-अपने किसानों की मदद कर सकते है और बायो डि-कंपोजर के छिड़काव पर आने वाला पूरा खर्च खुद वहन कर सकते हैं। दिल्ली ने बायो डि-कंपोजर के रूप में पराली का समाधान दे दिया है। इसका घोल बनाने से लेकर खेत में छिड़काव करने तक एक हजार रुपए प्रति एकड़ से भी कम खर्च आता है। इसके परिणाम से उत्साहित एयर क्वालिटी कमीशन ने भी अब सभी राज्यों को बायो डि-कंपोजर का इस्तेमाल करने का आदेश दिया है। जब सभी राज्य सरकारें मिलकर पराली के समाधान की तरफ बढ़ेंगी, तभी इसका जड़ से समाधान संभव है। रिपोर्ट- कंचन अरोड़ा

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.