कांग्रेस से रिश्ता तोड़ भाजपा में शामिल हो सकते हैं पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह

Captain Amarinder Singh

चंडीगढ़: पंजाब में जारी सियासी घमासान के बीच सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के विरोधी पार्टी भाजपा में शामिल होने की ख़बरें आ रही हैं।

सूत्रों के हवाले से मिल रही जानकारी के मुताबिक, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के मंगलवार को गृह मंत्री अमित शाह से उनके आवास पर मिलने की संभावना है। ऐसे में यह अनुमान लगाया जा रहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू से नाराज कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस से अपना नाता तोड़ भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

भाजपा के सूत्रों का कहना है कि पार्टी कैप्टन को भाजपा में शमिल करने पर विचार कर रही है। अब देखना ये होगा कि अमरिंदर को पार्टी में शामिल कर उन्हें एक चेहरे के रूप में पेश किया जाएगा, या कैप्टन के नेतृत्व में एक नई राजनीतिक पार्टी का गठन किया जाता है।

इसी के साथ ही यह सवाल उठने लगे हैं कि 75 साल की उम्र में अपने नेताओं को पार्टी की सक्रिय राजनीति से दूर भेजने वाली पार्टी 79 साल के कैप्टन अमरिंदर सिंह को कैसे पार्टी का चेहरा बनाने को तैयार है। हालांकि कैप्टन के पार्टी में शामिल होने पर अभी बस विचार किया जा रहा है।

दरअसल, कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब के कद्दावर नेता हैं। पार्टी के पास पंजाब में कोई चेहरा भी नहीं है। ऐसी स्थिति में यदि कैप्टन अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल होते हैं तो बीजेपी में इस बात को लेकर चर्चा तेज है कि अमरिंदर को पार्टी में शामिल करने से बीजेपी को कितना फायदा होगा।

पंजाब में भाजपा के लिए अच्छा माहौल नहीं है। किसान आंदोलन कि वजह से उनका बचा वोट बैंक भी कम होता जा रहा है, ऐसे में कैप्टन को लाकर बीजेपी को कितना फायदा हो पाएगा, यह यह देखना काफी दिलचस्प रहेगा।

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.