Delhi से बड़ी ख़बर, ज्ञानवापी के बाद जामा मस्जिद में हिन्दू मूर्तियां होने का दावा, PM Modi को लिखा गया पत्र

Varansi वाराणसी की चर्चित ज्ञानवापी मस्जिद Gyanvapi Masjid के बाद अब दिल्ली की जामा मस्जिद Jama Masjid में हिन्दू देवी देवताओं की मूर्तियां होने का दावा किया गया है. हिन्दू महासभा ने बुधवार को पीएम नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है.

Share This News
jama masjid

jama masjid

Varansi वाराणसी की चर्चित ज्ञानवापी मस्जिद Gyanvapi Masjid के बाद अब दिल्ली की जामा मस्जिद Jama Masjid में हिन्दू देवी देवताओं की मूर्तियां होने का दावा किया गया है. हिन्दू महासभा ने बुधवार को पीएम नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है. हिन्दू महासभा ने दिल्ली की जामा मस्जिद की सीढ़ियों के नीचे हिन्दूओं की देवी-देवताओं की मूर्तियां होने का दावा किया गया है.

हिन्दू महासभा ने लिखा पत्र

आपको बता दे कि, बुधवार को हिंदू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि महाराज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर जामा मस्जिद का सर्वेक्षण करने का अनुरोध किया है. उन्होंने कहा कि सीढ़ियों के नीचे हिंदू देवताओं की मूर्तियां हैं. इसलिए जरूरी है कि खुदाई करके इन मूर्तियों को निकाला जाए. जिस तरह से ज्ञानवापी का सर्वे किया गया है. ठीक उसी तरह जामा मस्जिद का सर्वे कराया जाए.

जामा मस्जिद में मूर्तियां होने का दावा

बता दे कि, ज्ञानवापी सर्वे में शिवलिंग होने का दावा किया गया है. हिन्दू पक्ष और मुस्लिम पक्ष इसको लेकर अलग-अलग दावा कर रहे हैं. हालांकि, इस पर अभी कोर्ट का फैसला नहीं किया है. ऐसे में जामा मस्जिद में भी अब हिन्दू मूर्तियां होने का दावा किया जा रहा है.

शिवलिंग को लेकर तर्क-वितर्क

ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे को लेकर हिंदू पक्ष कह रहा है कि जहां पर शिलिग मिला है. उसकी आकृति साफ-साफ बता रही है ये शिवलिंग है. वहीं मुस्लिम पक्ष कह रहा है उपरी हिस्से की बनावट बता रही है कि ये फव्वारा है. हिंदू पक्ष तर्क दे रहा है कि ये एक ही पत्थर से बनी संरचना है, शिवलिंग ऐसे ही बनते हैं.

कोर्ट में सुनवाई टली

हालांकि, बुधवार को दो प्रार्थना पत्र के 7 बिंदुओं को लेकर वाराणसी कोर्ट में सुनवाई होनी थी लेकिन, बार एसोसिएशन के हड़ताल पर जाने के बाद सुनवाई को टाल दिया गया है. इस सुनवाई में ज्ञानवापी के सीज किए गए वजूखाने समेत 7 महत्यपूर्ण पहलूओं पर सुनवाई होनी थी.

Share This News

Leave a Reply

Your email address will not be published.