Advertisement

CDS Bipin Rawat Chopper Crash: वायु सेना के Mi-17 V5 हेलिकॉप्टर ने हादसे से पहले कब खो दिया था अपना संपर्क, जानें क्या बोले रक्षा मंत्री

Share
Advertisement

नई दिल्ली: भारतीय वायु सेना का एमआई-17 हेलीकॉप्टर बुधवार को तमिलनाडु के नीलगिरी जिले के कुन्नूर इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस हादसे में भारत ने अपने पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत के अलावा अन्य 11 सैनिकों को खो दिया।

Advertisement

वायु सेना के Mi-17 V5 हेलिकॉप्टर ने हादसे से पहले कब खोया था अपना संपर्क, इसको लेकर लोकसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कुन्नूर के पास जंगल में कुछ स्थानीय लोगों ने हेलिकॉप्टर के अवशेषों को आग की लपटों से घिराह हुआ देखा। स्थानीय प्रशासन से एक बचाव दल घटनास्थल पहुंचकर बचाव अभियान कर लोगों को अस्पताल पहुंचाया। हेलिकॉप्टर में सवार कुल 14 में से 13 लोगों की मौत हो गई।

वायु सेना के Mi-17 V5 हेलिकॉप्टर ने हादसे से पहले 12:08 बजे खो दिया था अपना संपर्क

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोेले जनरल विपिन बिपिन रावत अपने दौरे के लिए तमिलनाडु के वेलिंग्टन जा रहे थे।वायु सेना के Mi-17 V5 हेलिकॉप्टर कल 11:48 AM बजे सुलूर एयर बेस से अपनी उड़ान भरी और इसे 12:15 बजे वेलिंग्टन लैंड करना था लेकिन सुलूर एयर बेस के एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने 12:08 बजे अपना संपर्क खो दिया।

लोकसभा में आगे रक्षा मंत्री ने कहा कि CDS जनरल बिपिन रावत का पूर्ण सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा और अन्य सभी सेना अधिकारियों का अंतिम संस्कार उचित सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा।

सभी पार्थिव शरीर को आज शाम तक दिल्ली लाया जाएगा: रक्षा मंत्री

तमिलनाडु में हुई सैन्य हेलीकॉप्टर दुर्घटना पर लोकसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, ने कहा सभी पार्थिव शरीर को आज शाम तक दिल्ली लाया जाएगा। ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह सेना के वेलिंग्टन अस्पताल लाइफ सर्पोट पर हैं और इन्हें बचाने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें