जानबूझकर कर्ज नहीं चुकाने वालो का बैंक करें फॉलो-अप- निर्मला सीतारमण

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को बैंक ऋणों के पुनर्भुगतान में चूक करने वालों को स्पष्ट संदेश में कहा कि बैंकों से उन लोगों को सक्रिय रूप से फॉलो करने के लिए कहा, जिन्होंने अपने ऋण खातों कोनॉन परफॉर्मिंग एसेट (एनपीए) में बदल दिया है।

सीतारमण जम्मू विश्वविद्यालय के जनरल जोरावर सिंह स्टेडियम में एक समारोह में संबोधन कर रही थीं। इसके साथ ही उन्होंने जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए आवश्यक सभी बजटीय सहायता का आश्वासन दिया।

उन्होंने कहा, “हमें राज्य को पारदर्शी तरीके से काम करने के लिए अपने संसाधनों में लगाना होगा। अगर बैंक में कोई गलत काम हुआ है, जैसे कि कर्ज लिया गया है और अब तक चुकाया नहीं गया है, मुझे यकीन है कि हमारी प्रणाली इस तरह से काम करेगी कि जिन्होंने गलत तरीके से बैंकों से पैसा ले लिया है, उसे वापस लाया जाएगा।”

उन्होंने आगे भी कहना जारी रखा। वित्त मंत्री ने कहा, आप सभी वाकिफ हैं कि NPA हमेशा से ही बैंकों के लिए चिंता की बात रहे हैं। केंद्र में 2014 से जबसे मोदी सरकार आई है, तब से ही NPA को नीचे लाने में सरकार की ओर से कड़े प्रयास किए गए हैं। साथ ही NPA को पहचान कर, उन्हें समझना, रिसोल्व करना और उसके बाद फिर से पूंजी बनाना।

साथ ही ये भी सुनिश्चित करना कि NPA को लगातार नीचे रखा जा सके।

“एनपीए की संख्या में गिरावट ने बैंकों को खराब खातों के लिए प्रावधान रखने से भी बचाया। इस बीच, सरकार ने उन सभी का फॉलो अप रखा जिनके खाते देश और विदेश में एनपीए में बदल गए थे। हमने सुनिश्चित किया कि उनकी संपत्तियां कुर्क की जाएं और कानूनी प्रक्रिया के माध्यम से उन्हें बेचा और नीलाम किया जाए और पैसा बैंकों में वापस आ गया।

Share Via

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *