Advertisement

Uttarakhand: सोमेश्वर में नजर आई उड़ने वाली दुर्लभ गिलहरी

Share
Advertisement

अल्मोड़ा के सोमेश्वर में दुर्लभ प्रजाति की उड़ने वाली गिलहरी दिखाई दी है। यहां कंटीले तार में गिलहरी फंसी नजर आई। जिसे ग्रामीणों ने किसी तरह बचा लिया है। वन विभाग के अधिकारियों ने उड़ने वाली गिलहरी का नजर आना जैव विविधता के लिहाज से अच्छा संकेत बताया है।

Advertisement

वूली गिलहरी….जिसे उड़ने वाली गिलहरी भी कहा जाता है। इस दुर्लभ प्रजाति की गिलहरी को लेकर अल्मोड़ा के सोमेश्वर से एक अच्छी खबर आई है। यहां क्षेत्र के जंगल में एक वूली गिलहरी कांटों वाले तार में फंसी दिखाई दी। जिसे ग्रामीणों ने किसी तरह बचा लिया। घटना फलटा चनोली गांव की है।

यहां रहने वाले ग्रामीणों को जंगल के पास एक अनोखा जीव नजर आया, जो कंटीले तार में फंसा हुआ था। ग्रामीणों को गूगल की मदद से इस जीव के वूली गिलहरी होने की जानकारी मिली। लोगों ने वूली गिलहरी की फोटो भी कैमरों में कैद की है। ग्रामीणों ने मशक्कत करके गिलहरी को तार से सुरक्षित बाहर निकाला।

तारों से आजाद होते ही गिलहरी ने जंगल की ओर उड़ान भर दी। वन निभाग के अधिकारियों ने वूली गिलहरी का दिखाई देना प्रदेश की जैव विविधता के लिए अच्छा संकेत बताया है। अधिकारियों का कहना है कि इस संकटग्रस्त प्रजाति के संरक्षण के प्रयास किए जा रहे हैं।

संकटग्रस्त विलुप्त हो रही प्रजातियों यानी आईयूसीएन की रेड सूची में भी वूली गिलहरी का नाम दर्ज है। ऐसे में सोमेश्वर के गांव में इस लुप्तप्राय जीव का नजर आना निश्चित तौर पर प्रदेश की जैव विविधता के लिहाज से शुभ संकेत कहा जा सकता है।

ये भी पढ़ें:Uttarakhand: हरदा के रवैये ने बढ़ाई कांग्रेसियों की टेंशन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें