Advertisement

Uttarakhand: सिंगल विंडो सिस्टम लागू करने का प्रस्ताव, टूरिस्ट पैकेज से उत्तराखंड सरकार का राजस्व बढ़ेगा

Share
Advertisement

हर साल उत्तराखंड में चार धाम यात्राओं में बाहरी राज्यों से लाखों लोग आते हैं। हालांकि, यात्री अपने राज्य में ट्रेवल एजेंसी से टूर पैकेज बुक करते हैं और राज्य को इन सेवाओं पर लगने वाले जीएसटी का लाभ नहीं मिलता। लेकिन इज माय ट्रिप के सीईओ ने बेसिक निवेशक सम्मेलन में टूर पैकेज के लिए एक विंडो सिस्टम लागू करने का प्रस्ताव दिया है। इससे उत्तराखंड सरकार को बुकिंग पर जीएसटी का लाभ मिलेगा।

Advertisement

टूर पैकेज के लिए सिंगल विंडो सिस्टम होगा लागू

इज माय ट्रिप के सीईओ श्रीकांत पट्टी ने बेसिक निवेशक सम्मेलन में सरकार को उत्तराखंड में पर्यटक पैकेजों के लिए एक विंडो प्रणाली लागू करने का सुझाव दिया, जो गोवा की तरह होगा। इज माय ट्रिप पर्यटन का पोर्टल अभी भी काम कर रहा है। हजारों ट्रैवल कंपनियां इससे जुड़ी हुई हैं। पट्टी के अनुसार, आने वाले दो वर्षों में उत्तराखंड में 1000 लोगों को पर्यटन पैकेजिंग और परिवहन क्षेत्र में काम करने का अवसर मिलेगा।

स्थानीय युवाओं को नौकरी मिलेगी

इज माय ट्रिप गारंटी देगा कि स्थानीय लोगों को इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए बैंक से लोन मिलेगा। टूर पैकेज में एक विंडो सिस्टम लागू करने से प्रदेश सरकार को जीएसटी राजस्व से लाभ मिलेगा, इसलिए इसके लिए अलग से धन खर्च किया जाएगा। बाहर से आने वाले पर्यटकों को उत्तराखंड अतिथि देवो भव कहता है, लेकिन जीएसटी का लाभ कोई और नहीं लेता। लेकिन अब इस प्रणाली से उत्तराखंड सरकार को जीएसटी का लाभ और स्थानीय युवाओं को रोजगार भी मिलेगा।

ये भी पढ़ें: कासगंज में हिंदू संगठन ने सुखदेव के हत्यारों को फांसी की उठाई मांग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *