Advertisement

Chardham Yatra: 27 अप्रैल को खुलेंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट, दर्शन के लिए भारी मात्रा में श्रद्धालु पहुंचे बद्रीनाथ

Share
Advertisement

Chardham Yatra: उत्तराखंड में 22 अप्रैल से चारधाम यात्रा शुरू हो चुकी है। 22 अप्रैल को गंगोत्री, यमुनोत्री धाम के कपाट खोले गए। 25 अप्रैल को केदारनाथ धाम के कपाट खोले गए। वहीं अब 27 अप्रैल को बद्रीनाथ के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे।

Advertisement

बद्रीनाथ पहुंची आदि गुरु शंकराचार्य की गद्दी Chardham Yatra

27 अप्रैल को सुबह 7 बजकर 10 मिनट पर बद्रीनाथ के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। जिसके लिए आदि गुरु शंकराचार्य की गद्दी, रावल देव डोलियों के साथ मंगलवार को बदरीनाथ धाम पहुंच चुकी हैं। 25 अप्रैल को केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खुल गए हैं। इसी के साथ चारधाम यात्रा को लेकर लोगों में भारी उत्साह दिखाई दे रहा है। बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने से पहले तीर्थयात्री धीरे-धीरे बद्रीनाथ धाम की तरफ पहुंचने लगे हैं। साथ ही बद्रीनाथ धाम के मुख्य पड़ाव पर पड़ने वाले सभी मंदिरों के दर्शन भी कर रहे हैं। यात्रियों में उत्साह है और सभी भगवान बदरी विशाल के कपाट खुलते हुए देखना चाहते हैं।

मंगलवार को रवाना हुई थी डोलियां Chardham Yatra

गुरु शंकराचार्य जी की गद्दी बद्रीनाथ धाम के मुख्य पुजारी रावल जी, कुबेर व उद्धव जी की डोली भगवान बद्री विशाल के मंदिर पहुंच चुकी है। जोशीमठ नृसिंह मंदिर में पूजा-अर्चना के बाद मंगलवार को आदि गुरु शंकराचार्य की गद्दी, और रावल देव डोलियों के साथ बद्रीनाथ के लिए रवाना हो गए थे। इस दौरान भक्तों के जय बदरीविशाल के जयकारों से जोशीमठ गूंज उठा था। बदरीनाथ धाम के कपाट 27 अप्रैल को सुबह 7 बजकर 10 मिनट पर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। जिसके लिए काफी दिनों से तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। मंगलवार सुबह नौ बजे से नृसिंह मंदिर परिसर में बदरीनाथ के रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी और धर्माधिकारी ने संकल्प पूजाएं की। इसके बाद सुबह साढ़े 10 बजे आर्मी की बैंड धुनों के साथ रावल के साथ ही आदि गुरु शंकराचार्य की गद्दी को पांडुकेश्वर के लिए रवाना किया गया।

केदारनाथ के लिए रोका गया रजिस्ट्रेशन

चारधाम यात्रा में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में तीर्थयात्री अपने-अपने प्रांतों से निकले हैं। ऋषिकेश में रजिस्ट्रेशन करवाने वाले यात्रियों को तीन धाम के रजिस्ट्रेशन तो मिल रहे हैं। लेकिन केदारनाथ धाम के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा है। जानकारी के अनुसार केदारनाथ में हो रही भारी बर्फबारी के चलते रजिस्ट्रेशन कुछ दिनों के लिए रोक दिया गया है। जिससे तीर्थयात्रियों में निराशा है।

ये भी पढ़ें: आनंद मोहन ने रिहाई के बाद CM नीतीश को कहा धन्यवाद, बताया आगे का प्लान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें