Advertisement

UP Nikay Chunav 2023: अर्चना वर्मा पहले थीं सपा के साथ, अब थामा भाजपा का हाथ, जानें वजह

Share
Advertisement

यूपी के शाहजहांपुर में नगर निकाय चुनाव में अखिलेश यादव ने अर्चना वर्मा पर भरोसा जताते हुए शाहजहांपुर नगर निगम से मेयर पद के लिए उन्हें समाजवादी पार्टी का प्रत्याशी बनाया था। लेकिन आखिरी मौके पर सपा को करारा झटका देते हुए मेयर की सपा प्रत्याशी अर्चना वर्मा ने समाजवादी पार्टी को बाय बाय कर रविवार की शाम को लखनऊ में डिप्टी सीएम बृजेश पाठक की मौजूदगी में भाजपा ज्वाइन कर ली।

Advertisement

मेयर पद की सपा प्रत्याशी अर्चना वर्मा सपा छोड़ भाजपा में शामिल होने के बाद पहली बार देररात शाहजहांपुर पहुंचीं। यहां रेती रोड स्थित भाजपा कार्यालय पर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने बताया कि समाजवादी पार्टी में हावी गुटबंदी के चलते उन्होंने सपा को छोड़कर बीजेपी ज्वाइन की है। इस दौरान उनके साथ यूपी के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, सहकारिता मंत्री जेपीएस राठौर और उत्तर प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री जितिन प्रसाद भी मौजूद थे।

सपा छोड़ भाजपा में शामिल हुईं अर्चना वर्मा ने कहा कि अब बीजेपी में वह सुरक्षित महसूस कर रही हैं। आपको बता दें कि अर्चना वर्मा सपा सरकार में कद्दावर मंत्री रहे स्वर्गीय राममूर्ति सिंह वर्मा की बहू हैं। वह इससे पहले जिला पंचायत अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। समाजवादी पार्टी ने अर्चना वर्मा को शाहजहांपुर नगर निगम से मेयर सीट के लिए अपना प्रत्याशी बनाया था। लेकिन अब आखिरी मौके पर अर्चना वर्मा ने सपा छोड़ भाजपा ज्वाइन कर ली है। जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी ने अर्चना वर्मा को शाहजहांपुर नगर निगम से अपना मेयर प्रत्याशी बनाया है। यूपी वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि “पूरी रोटी खाएंगे और अर्चना वर्मा को जिताएंगे।”

(शाहजहांपुर से अभिषेक सक्सेना की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें: UP Nikay Chunav: सीएम योगी करेंगे चुनाव प्रचार, मांगेंगे मेयर-पार्षद के लिए वोट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *