Advertisement

Meerut Politics सदन में मारपीट पर सियासत गरम, अखिलेश यादव बोले- हार नजदीक देख हताशा में भाजपा

meerut politics

meerut politics

Share
Advertisement

Meerut Politics मेरठ नगर निगम में भाजपाईयों और विपक्षी पार्षदों के बीच हुई मुठभेड़ Meerut Politics के चलते सियासत के गलियारों में हड़कंप मच गया है। सदन से लेकर सड़क तक हुए इस विवाद ने तूल पकड़ लिया है। इस हादसे के बाद कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने मारपीट के शिकार पार्षदों से मुलाकात की और उनका साथ देने का वादा किया। इसके साथ ही सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी इस घटना को दलित पार्षदों पर प्रहार बताया। बसपा नेता भी आहत पार्षदों के आवास पर पहुंचे और लड़ाई में साथ देने की बात कही।

Advertisement

भाजपा दलित लोगों से करती है दुर्व्यहवार- प्रदेश अध्यक्ष अजय राय

बता दें कि घटना की जानकारी मिलने के बाद  कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय राय मारपीट के शिकार पार्षद आशीष चौधरी के घर जाहिदपुर पहुंचे। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा दलित और कुचले लोगों के साथ दुर्व्यहवार करती है।

उन्होंने आगे कहा कि शनिवार(30 दिसंबर) को नगर निगम की बैठक में ऊर्जा राज्य मंत्री और विधान परिषद सदस्य का जनप्रतिनिधियों के साथ मारपीट करना चिंताजनक है। अजय राय ने कहा कि कांग्रेस इसका सदन से लेकर सड़क तक विरोध करेगी। कांग्रेस विपक्ष की आवाज को किसी भी सूरत में दबने नहीं देगी।

प्रदेश अध्यक्ष अजय राय यहां से पार्षद कीर्ति के गांव घोपला गए। जहां उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी पर उस शख्स के साथ खड़ी है। जिसकी आवाज बीजेपी दबाना चाहती है। अजय राय ने कहा कि भाजपा नफरत की राजनीति कर रही है और लोगों को एक दूसरे से तोड़ने का काम कर रही है। इस दौरान जिला अध्यक्ष अवनीश काजला, महानगर अध्यक्ष जाहिद अंसारी, रंजन शर्मा, धूम सिंह गुर्जर, सलीम खान, शमशाद मछेरान, सादिक कोटला अंसार, राजू यादव आदि साथ रहे।

भाजपा आगामी हार की हताशा में हिंसक हो गई है- अखिलेश यादव

इस मामले पर ट्वीट करते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने लिखा कि मेरठ में नगर निगम बोर्ड की बैठक के दौरान उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार के मंत्री और एमएलसी ने पुलिस की मौजूदगी में विपक्ष के दलित पार्षदों पर घातक प्रहार किए। भाजपा के लोग सत्ता के अहंकार में डूबकर दलितों से जो अपमानजनक व्यवहार कर रहे हैं, उसका जवाब उनको आगामी चुनाव में मिलने वाला है। भाजपा आगामी हार की हताशा में हिंसक हो गई है।

ये भी पढ़ें: Bareilly: ‘राम’ के लिए फराह बन गई ‘जानकी’, थाने के सामने लिए सात फेरे

अनुसूचित जाति के पार्षदों की पिटाई भाजपाइयों की सोची समझी साजिश- बसपा मंडल प्रभारी

वहीं भाजपाईयों और विपक्षी पार्षदों के बीच हुई भिड़ंत पर बसपा के मंडल प्रभारी सतपाल पेपला भी शनिवार रात्रि में जाहिदपुर स्थित बसपा पार्षद आशीष चौधरी के आवास पर पहुंच गए। उन्होंने पत्रकारों के कहा कि अनुसूचित जाति के पार्षदों की पिटाई भाजपाइयों की सोची समझी साजिश है। पार्षदों का अपमान किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पूरे मामले से बसपा हाईकमान को अवगत करा दिया गया है। उन्होंने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की।
मंडल प्रभारी, बसपा जिलाध्यक्ष जयपाल सिंह पाल, मंडल प्रभारी शाहजहां सैफी, डॉ. कमल सिंह समेत काफी बसपाई बसपा पार्षद से मिलने पहुंचे। बसपा नेताओं ने कहा कि भाजपा विधायक, उप्र सरकार के राज्य मंत्री समेत भाजपा के नेताओं ने अनुसूचित जाति का अपमान करने की नियत से मारपीट की है। इससे पूरे समाज का अपमान हुआ है। मारपीट करने वालों के खिलाफ एफआईआर और गिरफ्तारी की मांग को लेकर रविवार को प्रशासनिक अधिकारियों से मिलेंगे। 

Follow us on: https://www.facebook.com/HKUPUK

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *