Advertisement

Ayodhya: 500 साल बाद हो रहे हैं रामलला अयोध्या में विराजमान, प्राण प्रतिष्ठा में पहनेंगे सोने के धागे से बने कपड़े…

Share
Advertisement

अयोध्या में भगवान राम लला के मंदिर निर्माण की तैयारियां पूरी हो गई हैं। प्राण की प्रतिष्ठा के लिए भगवान को सजाना भी शुरू कर दिया गया है। पुणे में आज से भगवान राम लाल की प्राण प्रतिष्ठा के दौरान राम लला के कपड़े बनाए जा रहे हैं। भगवान राम लला का कपड़ा सोने के धागे से बनाया जाएगा, यानी सोने का धागा।

Advertisement

आज से हो रही है कपड़े बनाने की शुरुआत

भगवान राम लला के बहुप्रतीक्षित मंदिर में विराजमान होने से उनके आग्रह और भी बढ़ जाएंगे। 22 जनवरी को रामलाल की प्राण प्रतिष्ठा होगी। 500 वर्षों के संघर्ष के बाद रामलला विराजमान हो रहे हैं, इसलिए पूजन और प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी विशेष होगी, साथ ही रामलला के वस्त्र भी। रामलला के कपड़े को देश भर के लोगों को समर्पित करना चाहते हैं, लेकिन राम मंदिर ट्रस्ट के अनुसार पुणे में कुछ लोग रविवार से रामलला के कपड़े बनाना शुरू करेंगे।

सोने के धागे से बन रहे हैं रामलला के वस्त्र

जनसहयोग से इसमें दो-दो सोने के ताज लगाए जा रहे हैं। 22 दिसंबर तक पोशाक बनाया जाएगा। राम मंदिर ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरी ने कहा कि देश भर में भगवान रामलला के लिए कई लोग सुंदर कपड़े बना रहे हैं। इन कपड़े को गुजरात और कई अन्य स्थानों पर बनाया जाता है। गोविंद देव गिरि ने कहा कि पुणे में वस्त्र बनाए जा रहे हैं, जहां बहुत से लोग मिलकर दो-दो स्वर्ण धागे से सील करके वस्त्र बना रहे हैं। गोविंद देव गिरि ने कहा कि उस समय रामलला को जो भी कपड़ा सबसे अच्छा लगेगा, वह पहनेंगे। 10 दिसंबर, यानी रविवार से भगवान राम लला के वस्त्र का निर्माण स्वर्ण धागे से शुरू हो गया है। 22 दिसंबर तक भगवान राम लला का कपड़ा बनकर तैयार हो जाएगा. उसके बाद रामलाल को कपड़ा पहनाया जाएगा।

ये भी पढ़ें- Allahabad Supreme Court: वैवाहिक जीवन में ‘बलात्कार’ अपराध नहीं….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *