Advertisement

UP budget Session: अखिलेश का सीएम योगी को जवाब, ‘अगर पिता के बारे में कहा तो…’

Share
Advertisement

आज यूपी विधानसभा (up assembly) में बजट सत्र पर चर्चा के दौरान नेता प्रतिपक्ष और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने कहा कि नेता सदन ने किसी के पिता के बारे में कहा तो स्वाभाविक है, दूसरा भी पिता पर कहेगा। यह परंपरा छोड़नी होगी। अखिलेश ने कहा कि ऐसी शिक्षा नेता जी (मुलायम सिंह यादव) ने मुझे नहीं दी। दरअसल, शनिवार को विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (chief minister yogi adityanath) और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के बीच जमकर बहस हुई।

Advertisement

विधानसभा में आ गई थी तू-तड़ाक की नौबत

शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव के बीच तीखी बहस देखने को मिली। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आगबबूला हो गए। यूपी विधानसभा में खूब हो-हल्ला हुआ, दोनों पार्टी के विधायकों द्वारा जमकर नारेबाजी की गई। दरअसल सीएम योगी ने विधानसभा में अपने संबोधन के दौरान कहा मातृशक्ति की प्रतीक महिला राज्यपाल (आनंदीबेन पटेल) जब सदन को संबोधित कर रही थीं, उस समय नारे लगाना, उनको वापस जाने का कहना, असंसदीय व्यवहार करना कितना सही है? गेस्ट हाउस में घटी घटना “लड़कों से गलती हो जाती है” ऐसे ही तमाम वक्तव्य सामने आए थे। ये लोग लोकतंत्र की बात करते हैं, ये आश्चर्यजनक स्थिति है। इस पर अखिलेश यादव ने रेप के आरोपी चिन्मयानंद का जिक्र करते हुए कहा, ”ये भी बताएं कि चिन्मयानंद किसका गुरु है? शर्म आनी चाहिए…” इतना सुनते ही सीएम योगी भड़क गए और जवाब में कहा कि शर्म तो तुम्हें आनी चाहिए जो अपने बाप का सम्मान नहीं कर पाए।

अखिलेश ने किया था डिप्टी सीएम के पिता का अपमान

यूं तो सीएम योगी के बयान पर अखिलेश को अपने पिता के सिखाए आचरण की याद आ गई। अब अखिलेश यादव परंपरा छोड़ने की बात कर रहे हैं लेकिन विधानसभा में एक बार खुद अखिलेश भी ऐसा बयान दे चुके हैं। पिछले साल बजट सत्र के दौरान यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (deputy cm keshav prasad maurya ) और अखिलेश यादव के बीच तू-तड़ाक का मामला सामने आया था। अखिलेश यादव ने डिप्टी सीएम से सवाल किया था कि आपके जिले के मुख्यालय की सड़क किसने बनवाई? इसके जवाब में केशव मौर्य ने पिछली सपा सरकार को घेरते हुए कहा था कि जो लोग सड़क, एक्सप्रेस-वे जैसी बातें करते हैं, ऐसा लगता है जैसे इन्होंने सैफई बेच कर ये सब करवाया हो। केशव मौर्य के इस बयान पर अखिलेश भड़क गए। उन्होंने पलटवार करते हुए कहा, ‘तुम अपने पिता जी से लाते हो ये सब बनवाने के लिए’ इस पर विधानसभा में माहौल काफी गर्म हो गया।

इसके बाद केशव प्रसाद मौर्य भावुक हो गए और अखिलेश के इस बयान को अपने पिता का अपमान बताया। इसके बाद मीडिया से बात करते हुए मौर्य ने कहा कि अखिलेश यादव ने मेरे दिवंगत पिता का अपमान किया है।

डिप्टी सीएम ने कहा कि मेरे पिता नहीं हैं, उनके इस बयान से मैं काफी आहत हूं। सदन में इस तरीके का व्यवहार अखिलेश यादव को शोभा नहीं देता।

ये भी पढ़ें: SP, BJP ने आरोपी Sadaqat Khan के साथ साझा की एक दूसरे की तस्वीरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *