Advertisement

पंजाब सरकार ने शिक्षा को लेकर उठाया क्रांतिकारी कदम, जानें

Share
Advertisement

दिल्ली की तर्ज पर पंजाब सरकार भी शिक्षा को नए तरीके की उड़ान देने के प्रयास में हैं।   मु्ख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार द्वारा राज्य की स्कूल शिक्षा में क्रांतिकारी बदलाव लाने के लिए “मिशन-100 फिसदी” मुहीम को कामयाब करने के लिए लगातार कोशिश जारी है।

Advertisement

आपको बता दें कि  इसके तहत आज स्कूल शिक्षा विभाग मंत्री पंजाब हरजोत सिंह बैंस ने बड़ा फैसला लेते हुए फील्ड में काम कर रहे साइंस, गणित और अंग्रेजी, सामाजिक शिक्षा विषयों के 749 ब्लॉक और जिला मैंटर (बी.एम.और डी.एम.) को तुरंज जरूरत वाले स्कूलों में तैनात करने के लिए जिले के अफसरों को आदेशित किया गया है।

शिक्षा मंत्री के मुताबिक मौजूदा समय इन विषयों के 680 अध्यापक बतौर ब्लॉक मैंटर और 69 अध्यापक बतौर जिला मैंटर स्कूलों में पढ़ाने की जगह फील्ड ड्यूटी कर रहे है। बैंस की मानें तो मिशन 100 फीसदी मुहिम का मकसद फर्जी आंकड़े पेश करके  वाह-वाही बटौरना नहीं है बल्कि शिक्षा में सुधार करना है।

 इसी कड़ी में बैंस ने ये भी कहा कि उन्हें अब कुछ जिलों से यह रिपोर्ट मिली थी कि तैनातियों के दौरान  विभाग नियमों की पालना नहीं की गई जिस बारे सपष्ट हिदायतें है कि मिडल स्कूलों में कोई भी मैंटर तैनात ना कियां जाएं पर सिंगल अध्यापक मिडल स्कूल में सिर्फ एक मैंटर तैनात किया जा सकता है।

इसी तरह यह तैनाती करते समय दूर और पिछड़े क्षेत्र के स्कूलों को कवर किया जाए, जहां अध्यापकों की कमी है और फिर 50 % स्टाफ वाले स्कूलों में जहां किसी विषय के अध्यापक की सख्त जरूरत है, को कवर किया जाए और आखिर में उन स्कूलों में मैंटरों को तैनात किया जाएं, जहां संबंधित विषय का कोई अध्यापक नहीं है। तुरंज जरूरत वाले स्कूलों में तैनात करने संबंधित जिला शिक्षा अफसरों को आदेश जारी किए है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *