Advertisement

वानखेड़े की पत्नी क्रांति ने CM उद्धव ठाकरे को लिखा पत्र, कहा- अगर आज बालासाहेब जिंदा होते तो उन्हें ये पसंद नहीं आता

Kranti Wankhede/ ANI

Share
Advertisement

मुंबई: नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को ज़ोनल अधिकारी समीर वानखेड़े की पत्नी और मराठी फिल्म अभिनेत्री क्रांति रेडकर ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर न्याय की अपील की है।

Advertisement

गौरतलब है कि सुपरस्टार शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद से महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी के नेता नवाब मलिक लगातार समीर वानखेड़े और उनके परिवार को घेर रहे हैं।

मलिक ने वानखेड़े पर मालदीव और दुबई में उगाही के साथ जन्म प्रमाणपत्र पर समीर दाउद वानखेड़े नाम होने का जिक्र करके आरक्षण के माध्यम से सरकारी नौकरी हासिल करने का भी आरोप लगाया था।

इस केस की शुरूआत से ही नवाब मलिक समीर वानखेड़े और उनके परिवार की निजी जानकारियां सोशल मीडिया पर साझा करके सवाल कर निशाना साध रहे हैं।

इसके बाद से ही वानखेड़े की पत्नी क्रांति और बहन यासमीन सोशल मीडिया और टीवी पर सफाई देते दिखाई दे रही हैं। वहीं समीर वानखेड़े ने नवाब मलिक के आरोपों का खंडन करते हुए कहा था कि वो बड़े आदमी हैं, कुछ भी कर सकते हैं जबकि मैं एक छोटा सा सरकारी आदमी। अगर मुझपर कोई आरोप हैं तो सिद्ध करें।

क्रांति ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र

गरूवार को समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर, न्याय की मांग की है। क्रांति रेडकर ने कहा है, “मैं एक मराठी लड़की हूं और मुझे अपने ही महाराष्ट्र में ही धमकाया जा रहा है।”

अपने पत्र में क्रांति ने लिखा, “हमें रोज़ अपमानित किया जा रहा है। छत्रपति महाराज के राज्य में एक महिला के सम्मान के साथ खिलवाड़ हो रहा है। अगर आज बालासाहेब ज़िंदा होते तो उन्हें ये सब पसंद नहीं आता।”

क्रांति ने आगे लिखा है, “बालासाहेब तो आज नहीं है पर आप हैं। हम आपमें उन्हें देखते हैं। आप पर भरोसा करते हैं। मुझे यक़ीन है कि मेरे परिवार के साथ अन्याय नहीं होने देंगे। एक मराठी होने के नाते मैं आपसे न्याय की उम्मीद करती हूं।”

इस बीच समीर वानखेड़े की बहन यासमीन ने भी राष्ट्रीय महिला आयोग को शिकायत दी है। आयोग की प्रमुख रेखा शर्मा ने इस संदर्भ में बयान दिया है।

रेखा शर्मा ने कहा, “यासमीन ने अधिकतर अपने भाई के बारे में लिखा है लेकिन उन्होंने इस बात का भी ज़िक्र किया है कि उन्हें ऑनलाइन स्टॉक किया जा रहा है। हम महाराष्ट्र के डीजीपी को लिख रहे हैं। अपने भाई के केस पर वे सीधे पुलिस ने संपर्क कर सकती हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य खबरें