Advertisement

मणिपुर में साल के आखिरी दिन हिंसा, क्रॉस फायरिंग में नागरिक घायल, मोरेह में तनाव

Share
Advertisement

रविवार को मणिपुर के मोरेह में विद्रोहियों और सुरक्षा बलों की क्रॉस फायरिंग में कुछ नागरिक घायल हो गए, जिससे तनाव फैल गया। घायलों का इलाज सुरक्षाकर्मी ने किया।

Advertisement

रविवार को भी मैतेई, कुकी और कौट्रुक क्षेत्रों से क्रॉस फायरिंग की खबरें आई हैं।

शनिवार (30 दिसंबर) रात करीब 11.30 बजे कमांडो कॉम्प्लेक्स पर कुकी विद्रोहियों का हमला हुआ, जिसमें चार जवान घायल हो गए। विद्रोहियों ने रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (RPG) भी इस्तेमाल किए। घटना के बाद सुरक्षा बलों ने प्रतिक्रिया में फायरिंग की। मोरेह पुलिस कॉम्प्लेक्स के फर्नीचर, दरवाजे और कुछ सामान को फायरिंग में नुकसान हुआ।

शनिवार को दोपहर 3.30 बजे टेंग्नोपाल में विद्रोहियों ने IED से पुलिस वाहन पर हमला किया था। चार पुलिस अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गए। फिलहाल, वे पांच असम राइफल्स कैंप में इलाज कर रहे हैं। जब पुलिस मोरेह से की लोकेशन पॉइंट (KLP) की ओर बढ़ रही थी, तो उपद्रवियों ने उन्हें निशाना बनाया। इलाका घटना से परेशान है।

4 दिसंबर को दो गुटों के बीच हुई फायरिंग में 13 लोग मारे गए।

वहीं, इम्फाल वेस्ट जिले के कदंगबंद में हमलावरों ने एक विलेज गार्ड की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मरने वाला जेम्सबॉन्ड निंगोमबाम था। जो गांव की सुरक्षा में तैनात था।

मणिपुर के सीएम एन. बीरेन सिंह ने युवक की हत्या की निंदा की है। सीएम ने कहा- कुछ लोग राज्य में शांति भंग करने की कोशिश कर रहे हैं। यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। दोषियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान जारी है। हम उन्हें नहीं बख्शेंगे।

400 गोली चलाई गई, दो बम विस्फोट हुए

पुलिस ने कहा कि मोरेह के वार्ड नंबर 9 के चिकिम वेंग में अज्ञात लोगों ने मोरेह की कमांडो टीम पर बम फेंके और गोलियां चलाईं। मणिपुर पुलिस कमांडो इलाके में नियमित पेट्रोलिंग कर रहे थे, जब यह घटना हुई। पुलिस ने बताया कि शुरुआत में दो बम विस्फोट हुए, फिर 350 से 400 गोलियां चलाई गईं।

ये भी पढ़ें: XPOSAT Launching: ISRO फिर रचेगा इतिहास, न्यूट्रॉन स्टार्स की करेगा स्टडी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *